दवा की कालाबाजारी रोकने के लिए कानपुर पुलिस का मास्टर प्लान, पोस्टर छापकर…

Smart News Team, Last updated: Wed, 28th Apr 2021, 8:44 PM IST
  • पुलिस कर्मचारियों द्वारा कोविड अस्पतालों, मेडिकल स्टोर्स, श्मशान घाट और सार्वजनिक स्थानों पर पोस्टर लगवाए गए. इसके अलावा लोगों को एमआरपी से अधिक रेट पर दवा या कोविड किट या फिर ऑक्सीजन बेचने वालों की शिकायत करने के लिए डायल-112 नंबर की सेवा दी गई है.
अस्पतालों में लगाए गए पोस्टर

कानपुर. कोरोना काल की आपदा में अवसर तलाश कर रहे मुनाफाखोरी करने वालों की अब खैर नहीं है. मुख्यमंत्री के कड़े रुख के बाद अब कानपुर पुलिस ने ब्लैक मार्केटिंग पर लगाम लगाने के लिए कमर कस ली है. जिसके चलते कानपुर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने डायल-112 नंबर पुलिस सेवा के जरिए भी दवा की कालाबाजारी पर रोक की योजना बनाई है. जिसके तहत पुलिस कर्मचारियों द्वारा कोविड अस्पतालों, मेडिकल स्टोर्स, श्मशान घाट और सार्वजनिक स्थानों पर पोस्टर लगवाए गए.

पुलिस के इस पोस्टर में लिखा है कि एमआरपी से अधिक दवा या कोविड किट या फिर ऑक्सीजन बेचने वालों की शिकायत डायल-112 पर करें तो 'हम आ रहे हैं'. पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि अगले कुछ घंटों में ऐसे पोस्टर और होर्डिंग्स शहर में बड़े पैमाने पर लगाए जाएंगे, तो ओवर चार्जिंग करने वालों पर शासन की मंशा के अनुरूप कठोर कार्रवाई की जाएगी.

कानपुर: बाबूपुरवा इलाके से लापता हुए बच्चे का शव बरामद, पुलिस को हत्या की आंशका

आपको बतातें चलें कि पुलिस विभाग को ऐसा इसलिए करना पड़ रहा है, क्योंकि पिछले कुछ दिनों से ऑक्सीजन की किल्लत के दौरान कुछ ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे. जिसमे ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए सत्तर से एक लाख रुपए की मांग की जा रही थी. इस ऑडियो के बाद कालाबाजारी का बड़ा खुलासा तो हुआ लेकिन पुलिस के हाथ खाली रहे. एसीपी सीसामऊ कानपुर निशांक शर्मा ने कहा कि लोगों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए कानपुर कमिश्नरी को यह फैसला लेना पड़ा. जिसको लेकर पुलिस विभाग को आशा है कि कहीं न कहीं लोग सजग होंगे और नतीजा यह निकलेगा कि कालाबाजारी करने वालों पर लगाम लग सकेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें