कानपुर पुलिस का कारनामा, रेप आरोपी लेखपाल को बताया फरार, जबकि महिनों से था ऑन ड्यूटी

Somya Sri, Last updated: Wed, 15th Dec 2021, 2:01 PM IST
  • चंद रुपए के लिए कानपुर पुलिस का चेहरा बेनकाब हो गया है. कानपुर पुलिस रेप आरोपी लेखपाल को फरार बताती रही. जबकि वह 2 महीनों से ऑन ड्यूटी पर था. लेखपाल सहित चार लोगों पर आरोप है कि इन्होंने 15 साल की बच्ची के साथ कई बार रेप किया. प्रेग्नेंट होने पर उसके साथ मारपीट की. जिसके बाद इलाज के दौरान किशोरी सहित उसकी बच्चे की मौत हो गई. मामले को तूल पकड़ता देख कानपुर पुलिस ने अब जाकर लेखपाल को गिरफ्तार कर लिया है.
कानपुर पुलिस का कारनामा, रेप आरोपी लेखपाल को बताया फरार, जबकि था ऑन ड्यूटी (फाइल फोटो)

कानपुर: कानपुर से दिल दहला देने वाली खबर सामने आ रही है. जहां लेखपाल सहित चार लोगों ने 15 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप किया. गर्भवती होने पर उसके साथ मारपीट की. हालत खराब होने के बाद जब किशोरी को अस्पताल में भर्ती किया गया तो वहां किशोरी सहित उसका बच्चा पेट में ही मर गया. इधर कानपुर पुलिस पीड़िता के परिजनों को कहती रही कि रेप आरोपी लेखपाल रंजीत फरार है. जबकि लेखपाल महीनों से ऑन ड्यूटी पर था. चंद पैसों के लिए कानपुर पुलिस का चेहरा बेनकाब हो गया. हालांकि मामला तूल पकड़ता देख कानपुरपुलिस ने नाटकीय ढंग से रेप आरोपी लेखपाल सहित 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

पीड़िता के ताऊ के मुताबिक करीब 1 महीने पहले रेप आरोपी लेखपाल कानपुर के उत्तरीपुरा में मिला था. लेकिन जांच अधिकारी राजेश कुमार ने उसे फरार बताया. पीड़िता के ताऊ ने आरोप लगाया है कि जांच अधिकारी व सीओ राजेश कुमार सहित दो थानेदारों ने 6 लाख रुपये लेकर लेखपाल को फरार बताता रहा. हालांकि जब यह केस एसओ कृष्ण कुमार कश्यप के पास ट्रांसफर की गई तो उन्होंने कहा कि जितने भी आरोपी इस मामले से जुड़े हैं सभी का नाम एफआईआर में दर्ज होगा और उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा.

होम/ न्यूज़ /तलाकशुदा पत्नी का दावा- पति की दूसरी बीवी बांग्लादेशी, इंटेलीजेंस और LIU के उड़े होश

हालांकि पीड़िता की मौत इलाज के दौरान सोमवार को हो गई. किशोरी की मौत को लेकर गांव वालों का कहना है कि गांव में ही रहने वाला आरोपी करण लेखपाल का दोस्त है. दोनों ने शराब पार्टी के बाद किशोरी को बहला-फुसलाकर उनके साथ रेप किया और मुंह खोलने पर जान से मारने की धमकी दी. इस करतूत में दो अन्य लोग भी शामिल थे. गांव वालों ने बताया कि पीड़िता के साथ कई बार गैंगरेप किया गया था. वहीं गर्भवती होने के बाद लेखपाल ने उसके साथ मारपीट की इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

इधर एसपी आउटर अजीत कुमार सिन्हा का कहना है कि रेप पीड़िता और नवजात का डीएनए जांच के लिए सैंपल लिया गया है. आरोपियों की भी डीएनए जांच की जाएगी. जिसके बाद गैंगरेप में कितने आरोपी शामिल थे ये बात सामने आएगी. उन्होंने कहा कि इसी को आधार बनाकर आरोपियों को सख्त सजा दिलाई जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें