कानपुर प्रॉपर्टी डीलर की पत्नी ने कहा- अधिकारियों के बयान तोड़ रहे हिम्मत, CM जल्द शुरू कराएं CBI जांच

Nawab Ali, Last updated: Fri, 1st Oct 2021, 7:25 PM IST
  • गोरखपुर में प्रॉपर्टी डीलर की पुलिस पिटाई से मौत मामले पर अधिकारीयों की बयानबाजी पर मृतक मनीष की पत्नी ने नाराजगी जाहिर की है. पीड़ित पत्नी मीनाक्षी ने कहा है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़े भाई की तरह अच्छे निर्णय लिए हैं लेकिन गोरखपुर पुलिस के अधिकारी गलत बयान कर मेरी हिम्मत तोड़ रही है. मुझे गोरखपुर पुलिस पर भरोसा नहीं है वहां वो जांच को लेकर बिलकुल भी सपोर्ट नहीं कर रहे हैं.
कानपुर व्यापारी की पत्नी बोल- सीएम जल्द शुरू कराए CBI जांच.

कानपुर. गोरखपुर में प्रॉपर्टी डीलर की पुलिस पिटाई से मौत मामले पर अधिकारीयों की बयानबाजी पर मृतक मनीष की पत्नी ने नाराजगी जाहिर की है. पीड़ित पत्नी मीनाक्षी ने कहा है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़े भाई की तरह अच्छे निर्णय लिए हैं लेकिन गोरखपुर पुलिस के अधिकारी गलत बयान कर मेरी हिम्मत तोड़ रही है. मीनाक्षी गुप्ता ने गोरखपुर पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा है कि मुझे गोरखपुर पुलिस पर भरोसा नहीं है वहां वो जांच को लेकर बिलकुल भी सपोर्ट नहीं कर रहे हैं. 

गोरखपुर पुलिसपिटाई केस को लेकर पत्नी समेत मृतक मनीष गुप्ता के दोस्त पुलिस पर मारपीट कर हत्या का अरूप लगा रहे हैं. घटना के वक्त मनीष गुप्ता के दो दोस्त भी उस वक्त होटल में मौजूद थे लेकिन गोरखपुर पुलिस अधिकारी इस बात से इंकार कार रही है कि मनीष की मौत पुलिस पिटाई से नहीं बल्कि गिरने से हुई है. मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी ने पुलिस के बयान पर नाराजगी जताते हुए कई गंभीर आरोप लगाये हैं. पत्नी मीनाक्षी ने कहा है कि सीएम ने जब कह दिया कि केस गोरखपुर से कानपुर ट्रांसफर होने और सीबीआई जांच के लिए तो अब किसी को गलत बयान नहीं देने चाहिए. 

शादी का झांसा देकर प्रेमिका से ठगे 10 लाख, रकम वापस मांगी तो लुटेरे प्रेमी ने लड़की को पीटा

मुझे गोरखपुर पुलिस पर बिल्कुल भरोसा नहीं है. वो जांच में बिल्कुल सपोर्ट नहीं कर रही है. वो सबूत मिटाना चाहते हैं. मैने एक वीडियो देखा है जिसमें कहा गया कि पति के पास आईडी नहीं थी. वो भाग रहे थे जब कि होटल में उनकी आईडी उसी कमरे में मिली थी। मुझे बहुत दुख है कि वो लोग इस तरह के गलत बयान क्यों दे रहे हैं. मैं सीएम से अपील करना चाहती हूं कि दोषियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी करें जांच के बाद गिरफ्तारी न करें.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें