संजीत अपहरण-हत्याकांड मामले में पुलिस को चकमा दे परिवार धरने पर बैठा, हुआ हंगामा

Smart News Team, Last updated: Tue, 25th Aug 2020, 2:58 PM IST
  • कानपुर संजीत अपहरण-हत्याकांड मामले में नारको टेस्ट की याचिका खारिज होने से नाराज परिवार पुलिस को चकमा देकर धरने पर बैठा. पुलिस ने मौके पर पहुंच परिवार को उठाने की कोशिश की, जिसमें संजीत की बहन सड़क पर लेट गईं.
संजीत की बहन को पुलिस धरने से उठाती हुई.

कानपुर. कानपुर के संजीत यादव अपहरण और हत्याकांड मामले में संजीत के परिजन पुलिस को एक बार फिर चकमा देकर धरने पर बैठ गए हैं. शास्त्री चौक पर अनिश्चितकालीन धरने के मकसद से बैठे संजीत के परिजनों को पुलिस ने उठा लिया है. पीड़ित परिवार ने न्याय के लिए नारको टेस्ट की याचिका के खारिज होने पर सरकार ने नाराजगी जताई है. वहीं अपनी मांगो को पूरा करने के लिए सरकार से मांग की है.

कानपुर में मंगलवार की सुबह वकील से मिलने की बात कहकर संजीत का परिवार पुलिस को चकमा देकर निकल गया. संजीत के पिता चमनलाल, बहन रूचि और मां कुसमा शास्त्री चौक पर मांगों को लेकर धरने पर बैठ गए. 

सर्किल के एसपी साउथ दीपक भूकर ने मौके पर पहुंच गए. नौबस्ता पुलिस मां और बेटी को धरने की जगह से ले गई. पुलिस और परिवार के लोगों के बीच काफी धक्का-मुक्की हुई जिस दौरान बेटी सड़क पर लेट गई. वहीं मां कुसमा को पुलिस घर पर ले आई. 

संजीत की बहन रूचि ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि उन्होनें उसकी मां को पीटा गया है और पुलिस उसे भी मार डालेगी. 

कानपुर के डीएम ब्रह्मदेव तिवारी समेत 4 PCS का ट्रांसफर, नए DM आलोक तिवारी

घर पर मौजूद संजीत की मां कुसमा ने कहा कि पुलिस उसके पति और बेटी से मिलने नहीं दे रही है. पुलिस ने बढ़ते हंगामें को देख संजीत के घर के बाहर पुलिस बल को बढ़ा दिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें