कानपुर: जिले में संस्कृत स्कूलों में रखे जाएंगे टीचर, होगी इतनी सैलरी

Smart News Team, Last updated: Mon, 9th Aug 2021, 11:24 AM IST
  • कानपुर जिले में जितने संस्कृत स्कूलों में मानदेय पर टीचरों की भर्तियां की जाएगी. जिसके लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं. 
जिले में संस्कृत स्कूलों में रखे जाएंगे टीचर

कानपुर जिले में संस्कृत विद्यालय में अब मानदेय पर सहायक अध्यापक रखे जाएंगे. जिसके लिए जल्दी ही भर्तियां शुरू होने जा रही हैं. इन भर्तियों को लेकर शासन स्तर पर आदेश जारी कर दिया गया है. संस्कृत के स्कूलों में बदहाली को दूर करने के लिए भर्तियां की जा रही है. इसके लिए 10वीं के स्तर पर 12 हजार रुपये और 12वीं के स्तर पर सहायक अध्यापकों को 15 हजार रुपये मानदेय दिया जाएगा. स्कूलों में शिक्षकों को कमी है. सालों से शिक्षकों के पद नहीं भरे गए हैं.

संस्कृत की पढ़ाई न होने की वजह से छात्रों ने भी पढ़ाई को लेकर रुचि में भी कमी आई है. इस वजह से इन विद्यालयों में छात्र संख्या भी काफी कम हो गई है. ऐसी स्थिति में जब तक इन विद्यालयों में चयन बोर्ड से शिक्षक नहीं आते, तब तक मानदेय वाले सहायक अध्यापक ही छात्रों को पढ़ाएंगे.पूर्व मंडलीय उपनिरीक्षक संस्कृत अशोक गुप्ता ने बताया है कि प्रदेश के 15 मंडलों में डिस्ट्रिक्ट इंस्पेक्टर आफ स्कूल्स (डीआइ) संस्कृत के पद खाली हैं. पदों पर भर्तियां नहीं होंगी तो किसी भी मंडल में जमीनी स्तर पर विद्यालयों की निगरानी नहीं हो सकेगी.

Muzaffarpur: BRABU ने PG में बचे हुए सीटों के लिए तीसरी मेरिट लिस्ट किया जारी

स्कूलों में सही सचालन के लिए जरूरी है कि खाली पदों को पहले भरा जाए. पिछले साल ही उप्र माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद का सिलेबस बदल गया है. अब, जो मौजूदा समय है उसे देखते हुए सिलेबस को डिजाइन किया गया है. इसलिए, यह भी जरूरी है कि जिन शिक्षकों को नियुक्त किया जाए, उनकी योग्यता मानक के मुताबिक होनी चाहिए. तभी इन विद्यालयों का विकास हो सकेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें