पटवारी बोले- हमसे ना हो पाएगा, अब SDM साहब गांव-गांव तलाशेंगे शौचालय की जमीन

Smart News Team, Last updated: Mon, 31st Aug 2020, 10:06 PM IST
  • सार्वजनिक शौचालय और पंचायत भवनों के लिए जमीन तलाशने की जिम्मेदारी सीडीओ डॉ. महेन्द्र कुमार ने एसडीएम को दी है. इससे पहले जमीन तलाशने की जिम्मेदारी लेखपाल को दी गई थी.
सीडीओ डॉ. महेन्द्र कुमार ने सार्वजनिक शौचालय और पंचायत भवनों के लिए जमीन तलाशने की जिम्मेदारी एसडीएम को दी है.

कानपुर. कानपुर की बिल्हौर और नर्वल तहसील के एसडीएम, सदर अब गांव-गांव में जाकर शौचालय बनाने के लिए ग्राम समाज में ऐसी जमीन तलाशेंगे, जिस पर किसी प्रकार का कोई विवाद ना चल रहा हो.

आगरा जिले में 526 ग्राम पंचायतों में सार्वजनिक शौचालय और पंचायत भवनों का निर्माण किया जाना है. सार्वजनिक शौचालय और पंचायत भवनों के लिए जमीन तलाशने की कोशिश जिला प्रशासन के तरफ से जारी है. इसके लिए जमीन तलाशने की जिम्मेदारी लेखपाल को दी गई थी. लेकिन, काफी कोशिश के बाद भी लेखपाल (पटवारी) 51 सार्वजनिक शौचालय और 8 पंचायत भवनों के लिए जमीन की तलाश नहीं कर पाए. ऐसे में उन्होंने इस जिम्मेदारी से अपने हाथ खड़े कर दिए है.

कानपुर बिकरू कांड में पुलिस ने विकास के एक और साथी को किया गिरफ्तार, रायफल बरामद

इसके बाद सार्वजनिक शौचालय और पंचायत भवनों के लिए जमीन तलाशने की जिम्मेदारी सीडीओ डॉ. महेन्द्र कुमार ने नर्वल के एसडीएम को 15 जगह सार्वजनिक शौचालय और पंचायत भवनों के लिए जमीन तलाशने की जिम्मेदारी सौंपी है. 

कानपुर के ओंकारेश्वर अस्पताल में शॉर्ट सर्किट से आग, जान बचाकर भागे मरीज

जबकि सदर को 12 और एसडीएम बिल्हौर को 24 ग्राम पंचायतों में सार्वजनिक शौचालय और पंचायत भवनों के लिए जमीन तलाशने की जिम्मेदारी दी गई है. साथ ही बिल्हौर के एसडीएम को 6 और सदर को 2 पंचायत भवनों के लिए भी जमीन ढूंढेंने की जिम्मेदारी सीडीओ डॉ. महेंद्र कुमार के तरफ से दी गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें