घर में सोए मुरीदपुर ग्रामप्रधान परिवार के दो लड़कों पर हमला, एक की मौत

Smart News Team, Last updated: 17/10/2020 01:04 PM IST
  • चौबेपुर के मुरीदपुर गांव में ग्राम प्रधान के घर के दो लड़कों पर हमला हुआ. हमले के वक्त दोनों लड़के सो रहे थे. दोनों को इलाज के लिए ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया. जहां एक की मौत हो गई.
सूरज चौबे और बादल चौबे

वाराणसी: शहर के चौबेपुर के मुरीदपुर में शनिवार भोर लगभग चार बजे सोते समय दो किशोर भाइयों पर कुल्हाड़ी से हमले की वारादत का मामला सामने आया है. घटना के दौरान बड़े भाई की मौत हो गई. जबकि दूसरे का इलाज बीएचयू ट्रामा सेंटर में चल रहा है. घटना की सूचना पर मौके पर पहुंचे एसएसपी और एसपी ग्रामीण ने घटनास्थल का जायजा लिया. दोनों की चाची और गांव के पिता-पुत्र को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है. दोनों किशोर ग्राम प्रधान के परिवार से आते हैं

जानकारी के मुताबिक राजकिशोर अपने दो भाइयों अजय और विनय के साथ मुंबई में ट्रांसपोर्ट का व्यवसाय करते थे. कोरोना संक्रमण के कारण लगे लॉकडाउन के बाद वह घर आ गया. जबकि अजय का परिवार मुंबई में ही रहता है. यहां, राजकिशोर के पिता राजकिशोर, मां प्रभावती, उनकी पत्नी रेखा, दो बेटे सूरज और बादल और छोटे भाई विनय की पत्नी श्वेता अपने एक बेटे के साथ रहती थी.

 

मतृक सूरज चौबे

वाराणसी में पति-पत्नी की लड़ाई में चले जबरदस्त ईंट-पत्थर, परिवार के कई लोग घायल

परिजनों ने बताया कि लगभग बीस दिन पहले रेखा दिल्ली मायका चली गईं. घर पर दोनों बेटे, चाची श्वेता, दादा और दादी थे. छह कमरे के मकान में एक कमरे में दोनों भाई एक चारपाई पर सोए थे, जबकि पास के कमरे में श्वेता सोई थी. करीब चार बजे छत से कुछ लोग पहुंचे, दोनों पर कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ वार कर दिया. सूरज के चेहरे और गले पर गंभीर चोट आई, जबकि बादल के दोनों हाथ, शरीर पर कई जगह चोट लगी. दोनों चिल्लाते हुए कमरे से बाहर आए. एक भूसे वाले कमरे में जाकर गिर गया, जबकि बादल बाहर दादा के पास आ गया.

 वाराणसी में तेज रफ्तार बाइक पर नहीं बैलेंस बना पाई शिक्षिका, गिरने से हुई मौत

दोनों की लड़कों की हालत देख दादा दादी चीखने लगे, आवाज सुनकर चाची बाहर आई. आसपास के लोग ऑटो से निजी अस्पताल ले गए. जहां से दोनों को बीएचयू ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया. बीच रास्ते सूरज ने दम तोड़ दिया. मौके पर फोरेंसिक टीम के साथ पुलिस पहुंची. कुल्हाड़ी बरामद कर लिया. डॉग स्क्वायड की मदद से गांव के पिता-पुत्र और किशोरों की चाची को हिरासत में ले लिया है. तीनों से पूछताछ की जा रही है. एक दिन पहले ही गायब चाचा को लेकर भी पूछताछ की जा रही है.

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें