यूपी में कार-बाइक सर्विस सेंटर खोलने पर अब मिलेगा लोन, जानें कैसे मिलेगी सुविधा

Smart News Team, Last updated: Sun, 4th Jul 2021, 9:25 PM IST
  • कोरोना काल में टूटे मोटर व्हीकल सेक्टर संचालकों को सरकार द्वारा एमएसएमई के दायरे में लाया गया. अब रिपेयरिंग सेंटर्स को बैंक आसानी से लोन दे सकेंगे.
मोटर सर्विस या बाइक रिपेयरिंग सेंटर पर सरकार अब MSME के तहत लोन देगी. (प्रतिकात्मक फोटो

कानपुर. करोना काल में आर्थिक तंगी से जूझ रहे मोटर व्हीकल सेक्टर को सरकार राहत देने जा रही है. मोटर सर्विस या बाइक रिपेयरिंग सेंटर खोलने पर सरकार अब एमएसएमई के तहत लोन देगी. कार, बाइक-स्कूटी रिपेयरिंग सर्विस सेंटर इस दायरे में आ गए हैं. लघु मध्यम उद्योग की तरह ही इस सेक्टर को अब आसानी से लोन मिल सकेगा. एमएसएमई के दायरे में आने से 1800 से ज्यादा छोटे मध्यम रिपेयरिंग सेंटर इसका लाभ उठा सकेंगे.

केंद्र सरकार ने छोटे व्यापारियों के साथ मोटर व्हीकल रिपेयरिंग सेक्टर को भी एमएसएमई की योजना में शामिल किया है. इससे पहले केंद्र सरकार ने रिपेयरिंग सेक्टर को एमएसआई सेक्टर से जोड़ा था. साल 2017 में इस सेक्टर को हटा दिया गया था. सेक्टर से जुड़े लोगों की लगातार मांग के चलते यह लाभ दिया गया है. कंफेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स के राष्ट्रीय सचिव पंकज अरोड़ा के मुताबिक , सरकार द्वारा आदेश जारी कर दिए गए हैं. मोटर बाइक रिपेयरिंग सेक्टर से जुड़े लोग इस योजना का लाभ पाने के लिए उद्योग मंत्रालय के पोर्टल पर आसानी से रेजिस्ट्रेशन करा सकेंगे.

फोन पर अश्लील बात करने को महिला नहीं थी तैयार, भड़के युवक ने किया ऐसा गंदा काम

कार रिपेयरिंग सेंटर के संचालक अब्दुल अजीज का कहना है मोटर व्हीकल रिपेयरिंग शॉप संचालकों को सरकार की तरफ से कोई राहत नहीं मिलती थी. सर्विस सेक्टर से जुड़ा होने से बैंक से लोन नहीं मिल पाता था. सरकार के इस प्रयास से कई रिपेयरिंग सेंटर आधुनिक हो सकेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें