लखनऊ से पकड़े आतंकवादियों का वारदात को अंजाम देकर कानपुर में छिपने का था प्लान

Smart News Team, Last updated: Sun, 25th Jul 2021, 12:32 PM IST
  • लखनऊ से पकड़े गए अलकायदा के आतंकवादी का आतंकी वारदात को अंजाम देने के बाद कानपुर में अपने पहले से बनाए गए ठिकानों पर छिपने का इरादा था. इन आतंकवादियों से जुड़ा एक व्यक्ति कानपुर में रहता था जो अभी फरार चल रहा है. आरोप है कि वह व्यक्ति इन आतंकवादियों को असलहा दिलवाने का काम किया था.
एटीएस की टीम को कानपुर से आतंकियों के सहयोगी का तलाश. (प्रतीकात्मक फोटो)

कानपुर : लखनऊ से पकड़े गए अलकायदा के आतंकवादी किसी अप्रिय घटना को अंजाम देने के बाद कानपुर में छिपने का पूरा बंदोबस्त कर रखे थे. बीते गुरुवार को एटीएस की टीम ने आतंकी मिनहाज और मुशीर के साथ अन्य साथियों को लेकर कानपुर पहुंची थी. जानकारी के अनुसार ये लोग आतंकी वारदात को अंजाम देने के बाद कानपुर के चमनगंज, जाजमऊ, नई सड़क पर पहले से चिन्हित किए गए घरों में छिपने का इरादा था. एटीएस की टीम को कानपुर से आपात नाम के व्यक्ति की भी तलाश थी. जिसके लिए एटीएस की टीम ने कई जगहों पर छापेमारी भी की है. आफाक को जानने वाले कई लोगों से पूछताछ की गई है.

फिलहाल आफाक आपके बारे में कोई खास जानकारी एटीएस के हाथों नहीं लगी है. बताया जा रहा है कि आफाक तीन मोबाइल फोनों का इस्तेमाल करता है. तीनों फोन इस समय बंद आ रहा है. आफाक के एक फोन खुला था जिसका आखरी लोकेशन हैदराबाद मिला है. उसके बाद से ही उसका फोन स्विच ऑफ आ रहा है. बताया जा रहा है कि आफाक लईक के साथ मिलकर आतंकवादियों को हथियार दिलवाया था. उसी के तलाश में एटीएस की टीम कानपुर में अपनी पांच टीमों के साथ पहुंचा था.

गुरु पूर्णिमा पर गुरूजनों से आशीर्वाद लेने के बाद जनता से मिले CM योगी

आपको बता दे एटीएस की टीम बीते 1 हफ्ते से लखनऊ से पकड़े गए आतंकवादियों मिनहाज और मुशीर के साथ उनके तीन साथियों मुस्तकीम, लईक और शकील से पूछताछ की है. जिनमें एटीएस को कानपुर से हथियारों की सप्लाई की बात पता चली. इन्हीं हथियारों की सप्लाई को समझने के लिए एटीएस की टीम पढ़ाई के सभी आतंकियों और उनके साथियों को कानपुर लेकर पहुंची थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें