कोरोना संक्रमितों की जान पर ब्लैक फंगस का हमला, कानपुर में दो मौत

Smart News Team, Last updated: Wed, 12th May 2021, 4:57 PM IST
  • कानपुर में कोरोना वायरस के संकट के बीच दो मरीजों पर म्यूकोर माइकोसिस वायरस के लक्षण पाए गए हैं. इसका असर इतना तेज था कि दोनों मरीजों की बहुत जल्दी मौत हो गई. डॉक्टर ने बताया कि कि मेडिकल कॉलेज में अभी तक ऐसे दो केस रिपोर्ट हुए हैं.
कानपुर में म्यूकोर माइकोसिस से दो कोरोना मरीजों की मौत हुई.

कानपुर. कोरोना वायरस के संकट के बीच उत्तर प्रदेश के कानपुर में कोविड मरीजों में म्यूकोर माइकोसिस के लक्षण पाए गए हैं. इससे दो कोरोना संक्रमित मौत हो गई है. दोनों की मौत की वजह कोरोना के साथ-साथ म्यूकोर माइकोसिस के संक्रमण को बताया जा रहा है. डॉक्टरों के अनुसार, मेडिकल कॉलेज में अभी तक ऐसे दो केस रिपोर्ट किए गए हैं.

मिली जानकारी के अनुसार, मरने वाले दो मरीजों में एक बर्रा निवासी 49 साल की महिलार है जो मैटरनिटी विंग में भर्ती थी. उसकी आंखों में सूजन, लालिमा और स्पाइन पर समस्या थी. फेफड़े में भी गंभीर जकड़न थी. डॉक्टरों ने लक्षणों के आधार पर म्यूकोर माइकोसिस की पुष्टि की है. इस बारे में डॉक्टरों ने बताया कि सभी जांच नहीं कराई जा सकीं क्योंकि मरीज का ऑक्सीजन लेवल बहुत कम था. उससे उसकी मौत हो गई.

यूपी सरकार का फैसला, होम आइसोलेशन के कोरोना मरीजों को भी मिलेगी ऑक्सीजन

मैटरनिटी विंग में भर्ती मरीज की जांच तीन डॉक्टरों ने की. जिसमें दो मेडिसन विभाग के थे और एक आंखों के रोग का विशेषज्ञ था. वहीं वार्ड नंबर तीन में भर्ती 55 साल के पुरुष की आंखों में इतनी सूजन आ गई थी कि उसकी आंखें बंद हो गई थीं. मेडिकल कॉलेज के न्यूरोलॉजिस्ट आलोक वर्मा ने कहा कि मरीज उनके अंडर में भर्ती था. उसके चेहरे पर सूजन थी. वो दूसरे मरीजों से अलग लक्षणों के साथ था.

दस रुपए में डॉक्टर की सलाह, दवा और होम आइसोलेशन किट दे रहा है आई. आई. ए. कानपुर

मिली जानकारी के मुताबिक, लाणों के आधार पर मरीज की म्यूकोर माइकोसिस की डायग्नोसिस की गई है. मरीज में म्यूकोर माइकोसिस का संक्रमण जबरदस्त था. ब्रेन में सूजन आ गई थी. फंगस के असर से फेफड़े फेल हो गए. जांच कराने का समय ही नहीं मिला और मरीज की मौत हो गई.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें