निगम पार्षद को जूते मारने की धमकी, उप-नेता महेंद्र शुक्ला 6 माह के लिए निलंबित

Smart News Team, Last updated: Wed, 18th Nov 2020, 6:45 PM IST
  • कानपुर नगर निगम की मीटिंग में बीजेपी पार्षद आपस में भिड़े. जिसके बाद पार्षद दल के उप नेता महेन्द्र नाथ शुक्ला को 6 महीने के लिए सस्पेंड कर दिया गया.
कानपुर नगर निगम सदन के पार्षद उप नेता महेन्द्र नाथ शुक्ला को 6 महीने के लिए सस्पेंड कर दिया गया.

कानपुर. कानपुर नगर निगम की मीटिंग में पार्षद को जूते मारने की धमकी देने पर पार्षद दल के उप नेता महेन्द नाथ शुक्ला को 6 महीने के लिए सस्पेंड कर दिया गया है. आपको बता दें बुधवार को कानपुर नगर निगम सदन में बीजेपी पार्षद आपस में भिड़ गए. जिसके बाद सदन को स्थगित कर दिया गया.

आपको बता दें कि बुधवार को 2020 में पहली बार कानपुर नगर निगम का सदन बुलाया गया था. जिसमें बजट, कार्यकारिणी और विकास कार्यों पर चर्चा होनी थी. नगर निगम की मीटिंग में बीजेपी के पार्षद रमेश चन्द्र हटी ने बीजेपी के ही पार्षद महेन्द्र नाथ शुक्ला पर उनकी दुकान को लेकर  टिप्पणी की. रमेश चन्द्र ने कहा कि पार्षद दल के उप नेता महेंद्र नाथ शुक्ला ने प्रेम नगर धर्मशाला में एक दुकान पर अवैध कब्जा किया हुआ है. जिस तरह इनका अवैध कब्जा है उसी तरह हम लोगों का भी अवैध कब्जा करा दिया जाए. 

कानपुर नगर निगम की मीटिंग में BJP पार्षद लड़े, गाली और जूता मारने की धमकी

इतना सुनने के बाद पार्षद दल के उप नेता महेंद्र नाथ शुक्ला आक्रोश में आ गए और अपनी अपनी कुर्सी से उठकर कहा रमेशचंद्र हटी के पास पहुंच गए और अपशब्दों की बौछार कर दी. महेन्द्र नाथ ने बीजेपी पार्षद को जूते से मारने की बात कही. महेन्द्र नाथ शुक्ला ने कहा कि यह अवैध कब्जा नहीं है बल्कि आवंटन है जिसका मेरे पास प्रमाण भी है. जिसके बाद कानुपर नगर निगम सदन में जोरदार हंगामा हुआ. 

जीएसटी घोटाले में कानपुर की 18 फर्मों के नाम, दो चार्टर्ड अकांउटेड गिरफ्तार

हंगामा खत्म होने के बाद आधे घंटे के लिए सदन को स्थगित कर दिया गया. जिसके बाद पार्षद दल के उप नेता महेंद्र नाथ शुक्ला को 6 महीने के लिए निलंबित कर दिया और सदन को भी स्थगित कर दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें