टीम ने रेलवे की जमीनों का किया निरीक्षण, विकास दुबे के करीबी पर कब्जे का आरोप

Smart News Team, Last updated: Wed, 18th Nov 2020, 9:08 AM IST
विकास दुबे के खजांची जय बाजपेई द्वारा रेलवे की जमीन पर किए गए कब्जों को देख रेल अफसर भी भौंचक्के रह गए. रेलवे की जमीन पर लोगों को बसाकर पक्के घर बना दिए गए हैं. रेलवे लाइन के किनारे लगे खंबे घर के आंगन में आ गए हैं.
(प्रतिकात्मक फोटो)

कानपुर- विकास दुबे के खजांची जय बाजपेई द्वारा रेलवे की जमीन पर किए गए कब्जों को देख रेल अफसर भी भौंचक्के रह गए. रेलवे की जमीन पर लोगों को बसाकर पक्के घर बना दिए गए हैं. रेलवे लाइन के किनारे लगे खंबे घर के आंगन में आ गए हैं.

कोरोना की रूसी वैक्सीन (स्पूतनिक वी) 10 दिनों में कानपुर आने की संभावना

मंगलवार को आई एनईआर की टीम ने रेलवे की जमीनों का निरीक्षण किया. ये वे जमीनें हैं जिस पर विकास दुबे के करीबी जय बाजपेई ने कब्जा किया हुआ है. एडवोकेट सौरभ सिंह ने एनईआर लखनऊ मुख्यालय में शिकायत दर्ज कराते हुए जय बाजपेई पर आरोप लगाया था कि उसने रेलवे की सात संपत्तियों पर कब्जा कर लिया है.

लखनऊ, आगरा, वाराणसी, कानपुर और मेरठ में आज 18 नवंबर का वायु प्रदूषण AQI लेवल

मामले पर संज्ञान लेते हुए नार्थ ईस्ट रेलवे की तरफ से मंगलवार को इंस्पेक्टर सत्येन्द्र कुमार और संतोष सिंह की टीम को भेजा गया. अफसरों को जांच के दौरान सात ऐसे प्वॉइंट मिले, जिससे रेलवे की जमीन के प्रमाण मिले. उन्होंने सभी प्वॉइंट्स नोट करने के साथ खंभों की भी फोटो कराई जो घरों के आंगन में धंसे हुए थे. अफसरों का कहना है कि जल्द ही इस मामले में रिपोर्ट बनाकर उच्च अधिकारियों को सौंप देंगे. संपत्तियों को खाली कराया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें