कानपुर: बीमा कंपनी के अकाउंटेंट ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में बताई बड़ी वजह

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Fri, 11th Feb 2022, 11:59 PM IST
  • कानपुर के रेलबाजार में न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी के अफसरों की प्रताड़ना से तंग आकर एक अकाउंटेंट ने अपने घर पर सुसाइड कर ली. अकाउंटेंट से मिलने आए उनके साथी ने घटना की जानकारी दी. सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल के आसपास खंगाला. इस दौरान वहां से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिली है. 
प्रतीकात्मक फोटो

कानपुर. कानपुर के रेलबाजार में अपने घर पर बीमा कंपनी के अकाउंटेंट ने सुसाइड कर ली. अकाउंटेंट से घर पर मिलने आए उनके साथी ने इस घटना की जानकारी दी. मामले की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल के आसपास खंगालना शुरु किया. इस दौरान पुलिस को वहां से एक सुसाइड नोट मिली है. आशंका जताई जा रही है कि ये सुसाइड नोट अकाउंटेंट द्वारा लिखी गई है. इस नोट पर सुसाइड करने के फैसले का कारण बताया गया है. पुलिस ने बताया कि परिजनों की तरफ से शिकायत मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

जानकारी के अनुसार, मृतक शख्स न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी में बतौर अकाउंटेंट काम कर रहा था. मिली सुसाइड नोट के आधार पर वह बीमा कंपनी के अफसरों की प्रताड़ना से तंग हो गया था. इसके आलावा अकाउंटेंट कंपनी के काम के बोझ से काफी परेशान हो चला था. 

कानपुर में फिर इलेक्ट्रिक बस का कहर, 6 लोगों को रौंदा

मृतक शख्स का नाम ललित सोनकर है. 45 वर्षीय ललित शांति नगर का रहने वाला था. उसके परिवार में पत्नी खुशबू और एक बेटी है. ललित सोनकार की मां उमा देवी और छोटा भाई अमित खपरा मोहाल में रहते हैं. सुसाइड नोट मे लिखे अनुसार, मंगलवार को वह पत्नी खुशबू और अपनी बेटी के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए लखनऊ गया था. वहां से वापसी के बाद बुधवार की रात ललित अपने परिवार संग खपरा मोहाल वाले घर रुका हुआ था, और अगले दिन गुरुवार की सुबह केवल वह अपने शांति नगर वाले घर चला आया था. 

घटना वाले दिन अकाउंटेंट ललित के फोन पर उनके साथी रिषभ और पिंटू ने कॉल किया. कॉल रीसिव न होने पर रिषभ और पिंटू, अकाउंटेंट को बुलाने घर पहुंच गए. घर पहुंचकर दोनों दोस्तों ने ललित के घर का दरवाजा खटखाया. अंदर से किसी तरह की सुगबुहाट नहीं हुई. इसके बाद दरवाजे से उन्होंने झांककर देखा तो उनके होश उड़ गए. दोनों ने देखा ललित का शव दुपट्टे के सहारे लटक हुआ था. इसके बाद उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दे दी. सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच कमरे की जांच पड़ताल शुरु कर दी. इस दौरान कमरे से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला. जिसमें ललित ने अपने परिवार के लोगों पत्नी व बच्ची का ख्याल रखने के साथ कंपनी के अफसरों से परेशान होकर और काम के बोझ से तनाव में होने की बात लिखी है. इस घटना पर थाना प्रभारी रत्नेश सिंह ने बताया कि ललित के परिवार के लोगों की तरफ से मामले में तहरीर मिलने पर रिपोर्ट दर्जकर कार्रवाई की जाएगी.

बीमा कंपनी ने दो माह पहले दी थी प्रमोशन

न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी की सर्वोदय नगर शाखा में मृतक ललित सोनकर अकाउंटेंट के पद पर तैनात थे. सुसाइड नोट के आधार पर उन्हें दो महीने पहले ही प्रमोशन मिली थी. उसके बाद से ही वह काफी मेंटल डिप्रेशन यानी मानसिक तनाव में रहने लगे थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें