कानपुर में IPL क्रिकेट मैच के दो सटोरिए गिरफ्तार, 2 लाख कैश और 13 मोबाइल जब्त

Smart News Team, Last updated: 04/10/2020 06:39 PM IST
  • कानपुर में शनिवार को पुलिस ने आईपीएल क्रिकेट मैच के दो सटोरियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने उनके पास से दो लाख कैश, कई मोबाइल और डायरियों को जब्त कर लिया है.
कानपुर में पुलिस ने दो सटोरियों को अरेस्ट किया.

कानपुर. कानपुर में शनिवार को आईपीएल मैच में सट्टा लगवाने वाले दो सटोरियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने उनके पास से 2 लाख 5 हजार रुपए कैश, 13 एंड्रायड और  कीपैड मोबाइलों को बरामद किया. पुलिस ने दोनों अपराधियों पर जुआ अधिनियम के तहत कार्रवाई की है. 

इन दिनों पूरे देश में आईपीएल का खुमार चढ़ा हुआ. सट्टेबाजी भी आईपीएल में खूब जमकर हो रही है. पुलिस के आए दिन सट्टेबाजों और सटोरियों को दबोच रही है. शनिवार की रात को कानपुर में पुलिस ने ऐसे ही दो सटोरियों को दबोच लिया. पुलिस ने इन दोनों को गश्त करते समय पकड़ा. पूछताछ में दोनों ने अपनी पहचान बर्रा दो निवासी निवासी धर्मेन्द्र पासवान और बिधनू रामजीपुरवा निवासी मोहन लाल के रूप में की.

कानपुर: जमीनी रंजिश में चाचा और ताऊ ने मिलकर किया किशोरी का मर्डर, केस दर्ज

शनिवार रात बर्रा पुलिस इलाके में गश्त कर रही थी. रात के लगभग 11 बजे बर्रा दो डबल स्टोर के पास एक घर के बाहर दो लोग फोन पर बात कर रहे थे. पुलिस को दोनों पर शक हुआ तो उनसे पूछताछ की. उन्होंने पुलिस को बताया कि वे अपने किसी परिचित से बात कर रहे थे. उस नंबर पर जब दोबारा कॉल लगाया तो वो स्विच ऑफ आ रहा था.

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने आगरा मॉडल को सभी जिलों में लागू करने के निर्देश दिए

पुलिस को तलाशी में दो लाख 5 हजार रुपए कैश, 13 एंड्रायड और कीपैड मोबाइल मिले. इसके अलावा उनके पास से रजिस्टर और डायरियां मिलीं. जिसमें रुपयों का हिसाब, सट्टा लगाने के अंक और कोडवर्ड लिखे थे. जिसके बाद पुलिस ने दोनों को अरेस्ट किया. 

हाय सिस्टम! तीन साल से रुका है वेतन, बार-बार पूछ रहे शिक्षक हैं या प्रधानाचार्य

इस मामले को लेकर एसपी साउथ ने कहा कि दोनों आरोपी पहले नौबास्ता के कुछ लोगों के साथ जुआ खेलते थे लेकिन अब उनके साथी जेल में हैं. इसके बाद ये लोग आईपीएल में सट्टा लगाने लगे. उन्होंने बताया कि पुलिस मोबाइल नंबर की सीडीआर निकलवाएगी. जिससे इनके कनेक्शन और कौन इन्हें सट्टा खिलवा रहा है उसका पता लगाया जा सके. दोनों के खिलाफ जुआ अधिनियम की कार्रवाई करके जेल भेज दिया गया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें