मानसून से पहले टिड्डी दल के फसलों पर अटैक करने की आशंका, ऐसे करें खेतों का बचाव

Smart News Team, Last updated: Sun, 23rd May 2021, 2:20 PM IST
  • मानसून से पहले ही चक्रवर्ती तूफान की वजह से कई जगहों पर बारिश हुई है. अनुकूल मौसम होने की वजह से टिड्डी दल खेतों पर हमला करके फसल का नुकसान कर सकते हैं. इसी को ध्यान में कृषि विभाग ने 5 टीमें बनाई है. जो टिड्डी दल के रोकथाम पर काम करेगी.
कानपुर एवं आसपास के जिलों में टिड्डी दल आनें का खतरा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कानपुर. कानपुर के साथ ही आसपास के जिलों में टिड्डी दल आने की आशंका को देखते हुए कृषि निदेशालय ने फसलों को बचाने के लिए सलाह जारी कर दी है. इसके लिए कृषि विभाग पांच टीमों का गठन करेगा. इन टीमों का कार्य ग्राम प्रधानों के साथ मिलकर किसानों को टिड्डी दल से अपनी फसल को बचाने के लिए जागरूक करना होगा. वैसे तो टिड्डी दल मानसून में आकर फसलों को नुकसान पहुंचाते है. लेकिन इस बार मानसून से पहले चक्रवाती तूफान के चलते कई स्थानों पर बारिश होने के कारण टिड्डियों का दल कभी भी खेतों में घुसकर कुछ ही समय में फसलों को चट कर सकता है.

उपनिदेशक कृषि धीरेंद्र ङ्क्षसह के अनुसार मानसून के समय टिड्डियों के कई झुंड अफ्रीका से पाकिस्तान होते हुए राजस्थान पहुंचते है. इनके झुंड से फसलों और वनस्पतियों को भारी नुकसान पहुंचता है क्योंकि एक टिड्डी एक दिन में अपने वजन के बराबर खाना खाती है. इस लिए पूरी फसल को केवल कीटनाशक के प्रयोग से नहीं बचाया जा सकता है. इनसे अपने खेतों की फसल को बचाने के लिए नीम के तेल को पानी में मिलाकर छिड़काव करने से काफी हद तक इनसे होने वाले नुकसान को रोका जा सकता है.

यूपी में 31 मई तक बढ़ा आंशिक कोरोना कर्फ्यू, पहले की तरह लागू रहेंगी पाबंदी

जब भी टिड्डी दल खेत-खलियान में दस्तक दे तो इसकी सूचना किसानों को तुरंत ही अपने प्रधान, लेखपाल, ग्राम पंचायत अधिकारी या कृषि विभाग के सहायकों के जरिए कृषि विभाग एवं जिला प्रशासन तक पहुंचा दें. इसके अलावा टिड्डी के झुंड से फसलों को बचाने के लिए किसानों को एक साथ इकट्ठे होकर टीन के डब्बों अथवा थालियों से शोर मचाना चाहिए, क्योंकि शोर को सुनकर टिड्डी खेतों में नहीं बैठ पाएंगे. टिड्डी बलुई मिट्टी में प्रजनन करके वहीं अंडा देती है. अनुकूल मौसम में इनकी संख्या में तेजी से वृद्धि होती है. इसलिए ऐसे मिट्टी वाले स्थानों पर जुताई के साथ ही जल का भराव भी करा देना चाहिए.

कानपुर में अफसरों से बोले CM योगी- कोरोना की तरह ब्लैक फंगस से भी जंग जीतनी है

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें