तीन दिन तक फांसी के फंदे पर लटका रहा ई-रिक्शा चालक, दुर्गंध आने पर हुई जानकारी

Sumit Rajak, Last updated: Tue, 2nd Nov 2021, 1:55 PM IST
  • चकेरी में पत्नी से मायके में झगड़ा करने के बाद ई-रिक्शा चालक ने घर पहुंचकर फांसी लगा ली. तीन दिन बाद तक शव फंदे पर लटका रहा. शव जब सड़ने लगा तो दुर्गंध से आस पास के लोगों को इसकी जानकारी हुई. लोगों ने दरवाजा को तोड़ा और इसकी जानकारी पुलिस दी. पुलिस ने मृतक की पत्नी को सूचित किया. इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच के लिए फोरेंसिक टीम को बुलाया.
प्रतीकात्मक फोटो

कानपुरः चकेरी में पत्नी से मायके में झगड़ा करने के बाद ई-रिक्शा चालक ने घर पहुंचकर फांसी लगा ली. घटना के तीन दिन बाद तक शव फंदे पर लटका रहा. युवक का शव जब सड़ने लगा तो दुर्गंध से आस पास के लोगों को इसकी जानकारी हुई. आस पास के लोगों ने देखा कि कमरे का दरवाजा भी अंदर से बंद था. लोगों ने दरवाजा को  तोड़ा और इसकी जानकारी पुलिस दी. पुलिस ने मृतक की पत्नी को सूचित किया. इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच के लिए फोरेंसिक टीम को बुलाया.

मूलरूप से फैजाबाद के बनरही गांव निवासी 42 वर्षीय कमलेश यादव ई-रिक्शा चालक थे. उनके परिवार में  पत्नी रजनी और एक बेटा कान्हा व  एक बेटी लाडो है. मृतक की पत्नी ने बताया कि 2007 में उन्होंने प्रेम विवाह किया था. पति  को शराब की लत थी. जिसके कारण वह अक्सर मारपीट करते थे. पति की इन हरकतों से तंग आकर वह 2011 में बच्चों को लेकर कानपुर के चकेरी गांधीग्राम स्थित मकान में आकर रहने लग. इसके बाद वह प्राइवेट काम करके बच्चों का भरण पोषण कर रही थी. बीच-बीच में पति मिलने आ जाया करते थे. पत्नी ने बताया कि छह माह पहले  से वह पति व बच्चों के साथ हरजेन्दर द्वितीय स्थित हर्षित तिवारी के मकान में किराये पर रह रही थी. करवाचौथ वाले दिन वह मायके गई थी. शाम को पूजा के समय पति नशे की हालत में पहुंचे. वहां पर उन्होंने विरोध किया. जिस पर वह मारपीट कर चले गए.

यूपी में दीदी से भाभी की टक्कर! प्रियंका को काउंटर करने उतरेंगी डिपंल यादव?

 मृतक की पत्नी ने कहा की  29 अक्टूबर को दोबारा पति ने नशे की हालत में मायके आये. फिर  उन्होने मारपीट की. मायके वालों ने विरोध किया तो पति गुस्से में चले गए. जिसके बाद कमलेश ने अपने मकान में आकर कमरे का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया. उसके बाद दुपट्टे के सहारे पंखे के कुंडे से फांसी लगाकर जान दे दी. उधर पत्नी ने बताया कि 29 अक्टूबर के बाद से वह लगातार पति को फोन कर रही थी. पहले तो रिंग जा रही थी. उसके बाद फोन स्विच आफ बताने लगा.

सोमवार देर रात कमलेश के आस पास के कमरों में किराए पर रहने वाले लोगों को दुर्गंध आयी तो वह जमा हुए. इसके बाद उन्होंने कमलेश का दरवाजा खटखटाया लेकिन दरवाजा नही खुला. फिर लोगों ने दरवा+जे को तोड़कर देखा तो उन्हें कमलेश का शव लटकता मिला. तीन दिनों में शव फूलने के साथ साथ सड़ गया था. सूचना पर पहुंची पुलिस ने कमलेश की पत्नी को जानकारी दी. साथ ही फोरेंसिक टीम बुलाकर छानबीन की. चकेरी इंस्पेक्टर मधुर मिश्रा ने बताया कि पत्नी से झगड़े के बाद कमलेश ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें