RSS चिंतन शिविर में बोले मोहन भागवत- एकल परिवार से युवाओं में बढ़ी बुरी आदतें

Smart News Team, Last updated: 11/09/2020 10:07 PM IST
  • राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत कानपुर के दो दिनों के दौरे पर हैं. शुक्रवार को संघ प्रमुख ने प्रांत प्रचारकों के साथ बैठक की. जिसमें उन्होंने एकल परिवार की समस्याओं के बारे में बताया.
आरएसएस चीफ मोहन भागवत दो दिनों के लिए कानपुर के दौरे पर हैं.

कानपुर. एकल परिवार और उनमें पैदा हो रहीं असंगतियों पर चिंता जताते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संचालक मोहन भागवत ने शुक्रवार को कहा कि एकल परिवारों से ही युवा पीढ़ी में दुर्व्यसन का दंश बढ़ा है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख ने ये बात कानपुर में हो रहे आरएसएस चिंतन शिविर में कही. संघ प्रमुख मोहन भागवत इन दिनों कानपुर के दो दिनों के दौरे पर हैं.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत के कानपुर दौरे के दूसरे दिन प्रांत प्रचारकों की बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा की गई. इस मीटिंग में पर्यावरण, कटुंब प्रबोधन, सामाजिक समरसता और गौसंवर्धन जैसे विषयों पर मंथन हुआ. इसमें कहा गया कि ग्रामीण भारत के विकास से आत्मनिर्भर भारत बनेगा. इसके अलावा संयुक्त परिवार के बारे में भी सबने अपने विचार रखे. 

कानपुर में लव जिहाद का एक और केस, रमन बोलकर दोस्ती, अफजल बोलकर शादी

संघ प्रमुख ने इस बैठक में कहा कि एकल परिवारों से ही युवा पीढ़ी में दुर्व्यसन बढ़ा है. परिवार असेंबल की गई कोई इकाई नहीं है बल्कि परिवार संचरना प्रकृति प्रदत्त है. इसे सुरक्षित रखना और संरक्षण करना नैतिक धर्म बनता है. बच्चों में शुरू से ही अतिथि देवो भवः का भाव उत्पन्न करना चाहिए.  

कानपुर: सेल्समैन की बेटी गायब, अगले दिन लखनऊ से भांजी भी लापता, पुलिस हैरान

संघ प्रमुख ने हिन्दू आध्यात्मिक एवं सेवा फाउंडेशन के कार्यों की सराहना की. उन्होंने कहा, देशहित, प्रकृति हित में किसी भी सामाजिक, धार्मिक संगठन के कार्यों में स्वयंसेवकों को बढ़कर सहयोग करना चाहिए. शुक्रवार को ये मीटिंग सिविल लाइंस में क्षेत्र संघ चालक वीरेन्द्रजीत के घर पर हुई.  

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें