घोटालेबाजों ने वसूले डीजल के दाम, कागज बता रहे कबाड़ गाड़ियों में भी घूमे कमिश्नर

Smart News Team, Last updated: Thu, 11th Feb 2021, 12:22 PM IST
  • कानपुर में घोटालेबाजों ने कागजों में कमिश्नर को कबाड़ी गाड़ी में शहर में घुमाया. उसके बाद उसके बिल बनाकर तेल की धनराशि को संबंधित विभाग से वसूल भी किया है. इस घोटाले के सामने आने के बाद से केयर टेकरों को हुई भुगतान की जांच शुरू हो गई है.
घोटालेबाजों ने वसूले डीजल के दाम, कागज बता रहे कबाड़ गाड़ियों में भी घुमे कमिश्नर

संजय पांडेय

कानपुर. कानपुर में सरकारी अफसरों के गाड़ियों से पेट्रोल और डीजल का घोटाला करने वाले जालसाजों ने कमिश्नर को भी नहीं छोड़ा. घोटाला करने वालों ने कमिश्नर को ऐसे गाड़ियों में घूमते हुए दिखाकर तेल के दाम वसूल लिए जो सालों से कबाड़ पड़ी हुई है. यहीं नहीं कमिश्नर को कबाड़ पड़ी चारपहिया ही नहीं बल्कि बस और ट्रकों में भी घूमते हुए दिखाया गया है. सालों से खड़ी कंडम हो चुकी गाड़ियों को भी चलायमान दिखाकर तेल के दाम वसूले गए है.

ट्रक की बात करे तो यूपी 78 एटी 3088 नम्बर की गाड़ी करीब 4 साल से कंडम पड़ी हुई है. साथ ही यूपी 78 एएन 5309 नम्बर की एक बस भी सालों से कबाड़ के लिए पड़ी हुई है. जिसमे घोटालेबाजों ने कमिश्नर को शहर में घुमा दिया और उसके पैसे विभाग से वसूल लिए. यहीं नहीं इन घोटाला करने वालों ने तो डीएम, उपाध्यक्ष से लेकर एडीएम अधिकारी तक को ऐसे कबाड़ पड़ चुकी गाड़ियों में घूमता हुआ कगजो में दिखाकर धनराशि का भुगतान कराते रहे है.

कबाड़ पद चुकी बस

संजय पांडेय

कानपुर. कानपुर में सरकारी अफसरों के गाड़ियों से पेट्रोल और डीजल का घोटाला करने वाले जालसाजों ने कमिश्नर को भी नहीं छोड़ा. घोटाला करने वालों ने कमिश्नर को ऐसे गाड़ियों में घूमते हुए दिखाकर तेल के दाम वसूल लिए जो सालों से कबाड़ पड़ी हुई है. यहीं नहीं कमिश्नर को कबाड़ पड़ी चारपहिया ही नहीं बल्कि बस और ट्रकों में भी घूमते हुए दिखाया गया है. सालों से खड़ी कंडम हो चुकी गाड़ियों को भी चलायमान दिखाकर तेल के दाम वसूले गए है.

ट्रक की बात करे तो यूपी 78 एटी 3088 नम्बर की गाड़ी करीब 4 साल से कंडम पड़ी हुई है. साथ ही यूपी 78 एएन 5309 नम्बर की एक बस भी सालों से कबाड़ के लिए पड़ी हुई है. जिसमे घोटालेबाजों ने कमिश्नर को शहर में घुमा दिया और उसके पैसे विभाग से वसूल लिए. यहीं नहीं इन घोटाला करने वालों ने तो डीएम, उपाध्यक्ष से लेकर एडीएम अधिकारी तक को ऐसे कबाड़ पड़ चुकी गाड़ियों में घूमता हुआ कगजो में दिखाकर धनराशि का भुगतान कराते रहे है.|#+|

UP में प्रधानाध्यापक व सहायक अध्यापक पद के लिए बंपर भर्ती, जानें पूरी डिटेल्स

ऐसे घोटाले से जुड़े कई तथ्य उजागर हो रहे है. वहीं इससे सम्बंधित केयर टेकरों ने लॉग बुक तक तक सही से नहीं बनाया है. उन्होंने ने सिर्फ बिल तैयार किया और उस धनराशि का भुगतान कराते रहे है. उस बिल में कमिश्नर से लेकर एडीएम को भी कबाड़ी गाड़ियों में घुमाकर तेल के दाम वसूल लिया गया. आपको बता दे कि सभी सम्बंधित अधिकारियों के पास खुद की लग्जरी गाड़िया भी है. इस घोटाले के सामने आने के बाद केडीए के चार केयर टेकर के दौरान हुए भुगतान की जांच शुरू कर दी है.

बसंत पंचमी से शुरू होगी मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना, जानें कैसे लें इसका लाभ

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें