कोरोना संक्रमित मां को मरता हुआ छोड़ गया बेटा, पड़ोसियों ने किया अंतिम संस्कार

Smart News Team, Last updated: Tue, 27th Apr 2021, 7:06 PM IST
  • एक वृद्धा के कोरोना संदिग्ध होने पर बेटा अपनी मां को सड़क पर लावारिस छोड़कर भाग गया, पुलिस अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन वृद्ध की जान नहीं बची. उसके बाद पड़ोसियों ने किया वृद्धा का अंतिम संस्कार किया.
कोरोना संक्रमित मां को मरता हुआ छोड़ गया बेटा, पड़ोसियों ने किया अंतिम संस्कार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कानपुर: कानपुर में कोरोना से बिगड़ते हालात के बीच एक अमानवीय खबर सामने आई है, जो आपका दिल दहला देगी. जब एक वृद्धा के कोरोना संदिग्ध होने पर बेटा अपनी मां को सड़क पर लावारिस छोड़कर भाग गया, पुलिस अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन वृद्ध की जान नहीं बची. उसके बाद पड़ोसियों ने किया वृद्धा का अंतिम संस्कार किया. अगर औलाद ऐसी होती है तो ईश्वर हमें बेऔलाद ही रखे यह कहना है कि कैंट के मैकूपुरवा से आए पवन सिंह, महावीर और पिंटू का. 

मैकूपुरवा में कलियुगी बेटे ने रिश्तों को शर्मसार करते हुए मां के कोरोना संदिग्ध होने की आशंका के चलते रविवार को उन्हें सड़क किनारे मरने के लिए छोड़कर भाग गया. लोगों ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाला तो पुलिस ने उपचार के लिए भेजा जहां वृद्धा की मौत हो गई. इसके बाद भी बेटा नहीं आया और पड़ोसियों ने ही अंतिम संस्कार किया.

कानपुर देहात में पुलिसकर्मियों की बस की चपेट में आई बाइक, दो सगे भाइयों की हुई मौत

कैंट मैकूपुरवा निवासी सेना से रिटायर सूबेदार स्व. श्याम सिंह की पत्नी विजयलक्ष्मी 60 अपने बेटे विशाल यादव उर्फ विक्की के साथ रहती थीं. रविवार को विजयलक्ष्मी को सांस लेने में परेशानी हुई तो विशाल उन्हें ताड़बगिया में रहने वाली बहन के घर के बाहर सड़क पर छोड़कर भाग आया. लोगों ने देखा तो वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया.

कानपुर देहात SDM पिता की कोरोना से मौत, फिर भी फर्ज को दी प्राथमिकता

 जिसके बाद पुलिस ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया जहां देर रात उपचार के दौरान मौत हो गई. मां के मारने की सूचना के बाद भी विशाल यादव नहीं आया. जिसके बाद मोहल्ले के पवन सिंह, महावीर और पिंटू ने विजयलक्ष्मी का पोस्टमार्टम कराने के बाद चंदा करके अंतिम संस्कार कराया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें