विकास दुबे के गुर्गों का आतंक बरकरार, ग्रामीण ने लगाया जमीन कब्जाने का आरोप

Somya Sri, Last updated: Wed, 22nd Sep 2021, 11:39 AM IST
  • कानपुर के चौबेपुर से एक पीड़ित ने आईजी रेंज से विकास दुबे के गुर्गे द्वारा उसकी जमीन कब्जाने का आरोप लगाया है. आईजी ने मामले में जांच कर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है.
कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे (फाइल फोटो)

कानपुर: 3 जुलाई 2020 यह वह दिन था जब पुलिस ने कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने उसके गांव बिकरु गई थी. बिकरु में विकास दुबे के गुर्गों ने मिलकर 8 पुलिस वालों की नृशंस हत्या कर दी थी. जिसके बाद पुलिस ने विकास दुबे को मध्य प्रदेश से गिरफ्तार किया था. जिसे यूपी लाते वक्त भागने के प्रयास में पुलिस के हाथों एनकाउंटर में मारा गया था. इतने दिनों बीत जाने के बाद भी विकास दुबे के गुर्गे सक्रिय है. कानपुर के ग्रामीण ने विकास दुबे के गुर्गे पर जमीन कब्जाने का आरोप लगाया है.

दरअसल, कानपुर के चौबेपुर से एक पीड़ित ने आईजी रेंज से विकास दुबे के गुर्गे द्वारा उसकी जमीन कब्जाने का आरोप लगाया है. जिस पर आईजी ने मामले में जांच कर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया. पीड़ित ग्रामीण केशकली ने कहा कि 19 सितंबर को विकास दुबे के गुर्गों ने 10 लोगों के साथ ग्राम महाराजपुर में उसकी जमीन पर कब्जा करने का प्रयास किया. विरोध करने पर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी. जिसके बाद उसने इसकी सूचना 112 नंबर पर दी पर दबंगों पर कार्रवाई नहीं की गई.

दिल्ली से कानपुर आ रही युवती का रेप, जिस बस में थी सवार उसी के कर्मी पर आरोप

पीड़ित ग्रामीण केशकली ने कहा कि उनका परिवार पिछले तीस वर्षों से पूरे रकबा पर काबिज है. वर्ष 1996 में उनके पति ने खेत में मकान का निर्माण कराया. तब से उनका परिवार उसमें ही रह रहा है. उसी जमीन का एक हिस्से के सह स्वामी की मृत्यु के बाद उनकी पत्नी ने जमीन कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर बेच दी, जिसका मुकदमा न्यायालय में चल रहा है. फिलहाल आईजी ने मामले पर संज्ञान लेते हुए जांच कर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें