कानपुर वकील हत्याकांड: मुख्य आरोपी का सरेंडर! पुलिस का दावा- किया गिरफ्तार

ABHINAV AZAD, Last updated: Sat, 18th Dec 2021, 12:43 PM IST
  • कानपुर बार चुनाव के दौरान वकील गौतम दत्त हत्याकांड के मुख्य आरोपी तरू अग्रवाल ने कैंट थाने में सरेंडर कर दिया है. वहीं पुलिस कमिश्नर असीम अरुण का दावा है कि आरोपी ने सरेंडर नहीं किया है, बल्कि उसे गिरफ्तार किया गया है.
पुलिस कमिश्नर असीम अरुण का दावा है कि मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया गया है.

कानपुर. बार चुनाव के दौरान वकील गौतम दत्त की हत्या कर दी गई थी. अब वकील गौतम दत्त की हत्या के मुख्य आरोपित ने कैंट थाने में सरेंडर कर दिया है. लेकिन पुलिस कमिश्नर असीम अरुण का दावा है कि आरोपी ने सरेंडर नहीं किया है, बल्कि उसे गिरफ्तार किया गया है. आरोपी ने पूछताछ में घटना के वक्त उपस्थित कई वकीलों के नाम बताए हैं. बहरहाल, पुलिस आरोपी से घटना की वजह और रंजिश पर पूछताछ कर रही है.

गौरतलब है कि शुक्रवार को कानपुर कचहरी में बार एसोसिएशन का चुनाव था. इस चुनाव में जमकर हंगामा हुआ. हंगामे के बाद शाम साढ़े चार बजे चुनाव रोक दिया गया. रात तकरीबन साढ़े सात बजे कचहरी परिसर में गोली चल गई. इस गोलीबारी में अधिवक्ता गौतम दत्त (31) के पेट में गोली लग गई. जिसके बाद उन्हें हैलट अस्पताल में एडमिट कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. पुलिस ने रात में सीसीटीवी फुटेज की जांच की थी. वकील की बहन की तहरीर पर विधि छात्र तरू अग्रवाल तथा दो अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था.

बार चुनाव में हंगामा! प्रत्याशियों का गुस्सा सीसीटीवी पर फूटा, कैमरे तोड़े

मिली जानकारी के मुताबिक, रात से ही पुलिस टीमें खोज रहीं थी. दोनों बीजेपी से जुड़े होने के नाते कई नेता रात में ही सक्रिय हुए और सरेंडर कराने का वादा किया. बताया जा रहा है कि इस शर्त पर सरेंडर कराया गया कि पुलिस मारपीट नहीं करेगी. आरोपी तरू अग्रवाल ने सुबह साढ़े बजे कैंट थाने में सरेंडर कर दिया. इस बीच पुलिस कमिश्नर ने एक बयान जारी किया है. इस बयान में कहा गया है कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. बहरहाल, आरोपी से कैंट थाने में पूछताछ जारी है. बताते चलें कि बार चुनाव के दौरान वकील गौतम दत्त की हत्या कर दी गई थी. अब वकील गौतम दत्त की हत्या के मुख्य आरोपित ने कैंट थाने में सरेंडर कर दिया है. लेकिन पुलिस कमिश्नर असीम अरुण का दावा है कि आरोपी ने सरेंडर नहीं किया है, बल्कि उसे गिरफ्तार किया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें