कानपुर में महिलाओं को दिया जाएगा बसों की ड्राइविंग का प्रशिक्षण

Smart News Team, Last updated: 07/03/2021 04:20 PM IST
  • महिलाओं के आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार की ओर कई कदम उठाए जा रहे हैं, इसी कड़ी में रोडवेज की ओर से महिला चालकों को ट्रेनिंग दी जाएगी और उसके बाद शहर की सड़कों पर महिलाएं बसें दौड़ाती नजर आएंगी.
सांकेतिक तस्वीर

कानपुर. बिहार सरकार की ओर से महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए विभिन्न योजनाओं को संचालित कर रही है. प्रशासन की ओर से अब महिलाओं को रोडवेज बसों में कांट्रेक्ट पर चालक की जिम्मेदारी दी जाएगी. रोडवेज की ओर से महिलाओं को कानपुर के ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट में बसों की ड्राइविंग का प्रशिक्षण दिया जाएगा. कौशल विकास मिशन की ओर से 27 महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी. सरकार की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की इस योजना से महिलाएं अब सड़कों पर बसें दौड़ाती नजर आएंगी और उनके आत्मविश्वास को भी बल मिलेगा.

महिलाओं को यह ट्रेनिंग कानपुर के विकास नगर में मॉडल ड्राइविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट में प्रशिक्षण दिया जाएगा. महिला अभ्यर्थी को कम से कम आठवीं पास और पांच फीट तीन इंच लंबा होना अनिवार्य है. रोडवेज में चालक के अनुबंध के लिए उन्हें स्टांप पेपर भरना होगा. अभ्यर्थियों के पास डीएल या लर्निंग डीएल होना अनिवार्य है. ध्यानयोग्य है कि कानपुर में ट्रेनिंग के दौरान महिलाओं के रहने और खाने पीने की तमाम व्यवस्था की जाएगी.

कानपुर में शत्रु संपत्तियों पर अवैध कब्जे और निर्माण को लेकर 3 और FIR

गौर हो कि इस योजना को महिलाओं को रोजगार देने के लिए शुरू किया गया है. आवेदन मांगे गए हैं. ट्रेनिंग कानपुर में की जाएगी. ट्रेनिंग के बाद महिलाओं की तैनाती डिपो में होगी. 17 महा काम करने के बाद उन्हें हैवी मोटर वैलिड लाइसेंस बनाकर दिया जाएगा और 24 माह होने पर संविदा संचालक के रूप में तैनाती दी जाएगी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें