UP सीएम योगी आदित्यनाथ का निर्देश, कानपुर के GSVM अस्पताल में कोविड बेड बढ़ाए

Smart News Team, Last updated: 06/10/2020 02:32 PM IST
  • यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कानपुर के जीएसवीएम अस्पताल में कोविड जांच और बेडों की संख्या बढ़ने का निर्देश दिए है. लखनऊ में उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए ये बात कही.
UP सीएम योगी ने कानपुर के GSVM अस्पताल में कोविड बेड बढ़ाने के दिए निर्देश

कानपुर. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर के जीएसवीएम अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए बेढ़ बढ़ाने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री ने मेडिकल कॉलेज में 160 बेड कोरोना मरीजों के लिए निर्धारित करने को कहा है. 

सीएम योगी ने कानपूर में कोरोना के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और सैम्पलिंग बढ़ाने का भी निर्देश दिया हैं. मुख्यमंत्री ने सोमवार को कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये रूबरू हुए थे.

कानपुर: वायु प्रदूषण रोकने के लिए बनेगा व्हाट्सऐप ग्रुप, विशेषज्ञ ‌होंगे शामिल

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रो. अरबी कमल के मुताबिक कलेक्ट्रेट में हुई वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिये सीएम ने कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग को बढ़ाने पर ज्यादा बल दिया है. सीएम योगी ने 160 बेड बढ़ाने का निर्देश दिया था जिसपर काम शुरू हो गया है. कोविड हॉस्पिटल में बेड बढ़ा दिए गए हैं. साथ ही में वार्ड 1 से 4 के बीच 120 बेड और 40 बेड मैटरनिटी कोविड में बढ़ने का काम भी शुरू कर दिया गया है. बेडो को बढ़ाने पर लगातार काम चल रहा है. बेड बढाने का काम दो दिन में पूरा हो जायेगा.

कानपुर में आज पानी का मचेगा हाहाकार, बैराज का जलकल प्लांट बंद, यहां रहेगी आपूर्ति ठप

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज को 600 रेमडेसिवीर वॉयल मिलने के बाद सोमवार को २ हजार और वॉयल का आर्डर भी मंजूर कर दिया गया है. अपर मुख्य सचिव डॉ. रजनीश दुबे ने पहले ही एक वॉयल की कीमत 2580 रूपये निर्धारित कर दिए थे. इसी दाम पर ही जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज को भी रेमडेसिवीर मिल रहे हैं. प्राचार्य प्रो. अरबी कमल ने बताया कि बिते हफ्ते ही डॉ. दुबे ने रेमडेसिवीर इंजेक्शन के दामों की जानकारी दी थी उसी रेट पर ही मेडिकल कॉलेज में कोरोना मरीजों के लिए इंजेक्शन ख़रीदे जा रहे हैं. हाल ही में 711 वायल इसी दाम पर खरीदे गए हैं और इसी रेट पर ही कॉलेज का बजट भी पास किया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें