कानपुर सहित 11 जिलों में सेरोलॉजिकल टेस्ट के साथ हेपेटाइटिस बी की भी जांच

Smart News Team, Last updated: 09/09/2020 02:14 PM IST
  • कानपुर में सीरोलॉजिक सर्वेक्षण के दौरान अब हेपेटाइटिस बी की भी जांच होगी ताकि यह पता लगाया जा सके कि कितने प्रतिशत लोगों को हेपेटाइटिस बी है. इसके अलावा मेरठ, लखनऊ, कानपुर, वाराणसी ,गोरखपुर, कौशांबी, प्रयागराज, मुरादाबाद, गाजियाबाद, बागपत और आगरा में भी यह सर्वेक्षण होगा.
कानपुर सहित 11 जिलों में सेरोलॉजिकल टेस्ट के साथ हेपेटाइटिस बी की भी जांच

लखनऊ. उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य विभाग की ओर से प्रदेश के 11 जिलों में सीरोलॉजिक सर्वेक्षण शुरू किया गया है. जिसमें कोरोना वायरस संक्रमण की जांच के अलावा हेपेटाइटिस बी की भी जांच होगी. कानपुर मंडल के अपर स्वास्थ्य निदेशक डॉक्टर आरपी यादव ने बताया कि हेपेटाइटिस बी वायरस भी तेजी से फैल रहा है. इस बीमारी से भी लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है इसीलिए सेरोलॉजिकल सर्वेक्षण के माध्यम से एक तो कोरोनावायरस एंटीबॉडी का पता लगाया जा सकता है और साथ ही भी काफी सर्वेक्षण हो जाएगा.

कानपुर: मकान मालिक ने डरा-धमका कर 10 साल की बच्ची का किया रेप, गिरफ्तार

जिन जिलों में सर्वेक्षण किया जाएगा वे मेरठ, लखनऊ, कानपुर, वाराणसी ,गोरखपुर, कौशांबी, प्रयागराज, मुरादाबाद, गाजियाबाद, बागपत और आगरा है. इसके अतिरिक्त मुख्य स्वास्थ्य और परिवार कल्याण सचिव अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि कोरोनावायरस के लिए एंटीबॉडी की उपस्थिति निर्धारित करने के लिए व्यक्तियों के समूह के रक्त सिरम का परीक्षण किया जाएगा. 

BJP के खिलाफ SP का 9 बजे 9 मिनट लाइट बंद अभियान, लोगों से की मशाल जलाने की अपील

साथ ही उन्होंने बताया कि इसके लिए स्वास्थ्य टीमों को भी प्रशिक्षित किया जा रहा है. राज्य स्वास्थ्य विभाग किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के समन्वय में सर्वेक्षण करेगा. लखनऊ के शहरी इलाकों में बख्शी का तालाब ,चिनहट, गोसाईगंज, इंटौंजा, काकोरी के ग्रामीण इलाकों और वार्ड 1,2, 15 ,18, 25, 26 और 49 में नमूने लिए जाएंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें