कानपुर स्मार्ट सिटी योजना: इलेक्ट्रिक वाहनों के रिचार्ज सेंटर पर 2 करोड़ का खर्च

Smart News Team, Last updated: Fri, 16th Jul 2021, 8:55 PM IST
  • कानपुर के मेट्रो स्टेशनों के पास अब आप अपने इलेक्ट्रॉनिक वाहनों को चार्ज कर सकेंगे. शहर में जगह जगह रिचार्ज सेंटर लगाने का काम शुरू हो गया है. स्मार्ट सिटी की इस योजना के तहत जनता को महंगे पेट्रोल के साथ-साथ वायु प्रदूषण से भी छुटकारा मिल पाएगा.
अब बढ़ते पेट्रोल के दाम से मिलेगा छुटकारा, कानपुर में बनेंगे वाहन रिचार्ज सेंटर

कानपुर. पेट्रोल की कीमतें आसमान छू रही हैं ऐसे में कई बड़ी कंपनिया इलेक्ट्रोनिक वाहन बनाने पर अधिक ध्यान दे रही हैं. इतना ही नहीं कहा जा रहा है कि 15वें वित आयोग से मिली धनराशि से इलेक्ट्रिक रिचार्ज सेंटर बनाए जाएंगे. स्मार्ट सिटी योजना के तहत कानपुर में दो करोड़ रुपए से करीब आधा दर्जन रिचार्ज सेंटर बनाने का काम शुरू भी हो गया है. ये वाहन रिचार्ज सेंटर मेट्रो स्टेशनों के पास लगाए जायेंगे जिससे मेट्रो यात्री अपने वाहनों को पार्किंग में खड़े कर उन्हें चार्ज कर सकेंगे. आइआइटी ने पहले प्रस्ताव में ही इसे स्वीकृति दे दी है.

स्मार्ट सिटी योजना के तहत रिचार्ज सेंटर बनाने की ये पहल न केवल पेट्रोल डीजल के महंगे होने की समस्या को दूर करेगी बल्कि इससे देश की सबसे बड़ी समस्या वायु प्रदूषण में भी कमी आएगी. सिर्फ कार स्कूटी ही नहीं बल्कि सौ इलेक्ट्रिक बसों को रिचार्ज करने का सेंटर सितंबर माह में अहिरवां में चालू हो जाएगा. बता दें कि इस योजना में 14 करोड़ रुपये स्मार्ट सिटी से दिया गया है. इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के साथ साथ इस योजना के तहत चौराहों पर फव्वारे लगाने के साथ सड़कों को धूलमुक्त बनाने की योजना पर भी काम हो रहा है.

कानपुर में फ्री राशन के गेहूं, चावल बीजेपी के झोला में देने की तैयारी

 

बता दें कि महापौर प्रमिला पांडेय की अगुवाई में कमेटी ने इस प्रस्ताव को स्वीकृत कर दिया है. मुख्य अभियंता एसके सिंह ने बताया कि रिचार्ज सेंटर बनाने के लिए स्थान चिन्हित किए जा रहे है. उत्तर और साउथ सिटी में ये सेंटर बनाए जाएंगे. कानपुर मेट्रो के प्रथम फेस में आइआइटी से मोतीझील के बीच में रिचार्ज सेंटर के लिए जगह चिन्हित कर ली गई हैं साथ ही साउथ सिटी में भी रिचार्ज सेंटर के लिए जगग देखी जा रही है ताकि जनता को आसानी से रिचार्ज सेंटर मिल जाए और वे स्मार्ट सिटी की योजनाओं का लाभ उठा सकें।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें