पीयूष जैन ने इनकम टैक्स से मांगे जब्त रुपए, कहा- टैक्स-जुर्माना में 52 करोड़ काटो, बाकी दो

Swati Gautam, Last updated: Thu, 30th Dec 2021, 3:11 PM IST
  • कानपुर में कारोबारी पीयूष जैन के ठिकाने से छापेमारी के दौरान 177 करोड़ रुपए कैश और 23 किलोग्राम सोना जब्त होने के बाद कोर्ट से गुहार लगाई है कि उनके परिसर से जब्त की गई नकदी को टैक्स और जुर्माना काटकर यानी 52 करोड़ रुपए काटकर उनका बाकी का धन वापस कर दिया जाए.
इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर आयकर का छापा. file photo

कानपुर. कानपुर के इत्र व्यवसायी पीयूष जैन के ठिकानों से मिले 177 करोड़ रुपए कैश और 23 किलोग्राम सोने को लेकर देश भर में चर्चा हो रही है. इस बार पीयूष जैन ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. पियूष जैन का कहना है कि डायरेक्‍टरेट जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलिजेंस (DGGI) उनके परिसर से जब्त की गई नकदी को टैक्स और जुर्माना काटकर यानी 52 करोड़ रुपए काटकर उनका बाकी का धन वापस कर दिया जाए. बता दें कि जैन को टैक्स चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था और फिलहाल वह 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में है. जानकारी अनुसार पीयूष के वकील उसकी जमानत याचिका दाखिल करने की भी तैयारी कर रहे हैं.

जानकारी के अनुसार पीयूष जैन ने अपने बयान में कबूल किया है उसने तीन कंपनियां बनाई थीं. जिनमें वह चार साल में गुप्‍त रूप से पान मसाला कम्‍पाउंड बेचा था. पियूष ने बताया कि उसने टैक्‍स चोरी के मकसद से उनसे रकम जमा की थी. वहीं खबरों के अनुसार व्यापारी पीयूष जैन पर अब तक कुल 32 करोड़ रुपए का टैक्‍स बनता है. पैनल्टी मिलाकल 52 करोड़ रुपए की देनदारी बनती है. इस पर पियूष जैन ने कहा है कि डायरेक्‍टरेट जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलिजेंस (DGGI) बरामद किए पैसों में से 52 करोड़ काट कर बाकी की बची धनराशि उसे वापस कर दे्.

अमेठी दलित बच्ची केस: प्रियंका की योगी सरकार को चेतावनी, कार्रवाई नहीं तो होगा प्रदर्शन

डीजीजीआई ने कहा- टैक्स लेकर छोड़ने का सवाल ही नहीं उठता

इत्र कारोबारी पीयूष जैन के ठिकानों पर छापामारी का नेतृत्व करने वाले डीजीजीआई अहमदाबाद विंग के एडिशनल कमिश्नर विवेक प्रसाद ने कहा की जैन से 52 करोड़ टैक्स जमा कराने की बात गलत है. टैक्स नहीं लिया जाएगा न ही उसके पास से बरामद 197 करोड़ों रुपए को उसका बिजनेस टर्नओवर माना गया है. उसके पास से बरामद रुपया डिपार्टमेंट की केस प्रॉपर्टी है, जिसे स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की कस्टडी में सुरक्षित रखा गया है. पीयूष जैन को केवल टैक्स लेकर छोड़ने का सवाल ही नहीं उठता. अभी जांच प्रक्रिया चल रही है.

डीजीजीआई के अधिवक्‍ता अंबरीश टंडन ने बुधवार को मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि पीयूष के घर से बरामद धनराशि टैक्‍स चोरी की है. कानपुर में पीयूष के घर से कुल 196 करोड़ से अधिक रुपए बरामद किए गए थे. जिनमें 23 किलोग्राम सोना और 6 करोड़ रुपये का चंदन का तेल जब्त किया है. उन्हीं बताया कि कन्‍नौज में पीयूष के ठिकाने से मिले सोने और रुपयों की डिटेल अभी तक नहीं मिल पाई है. खबरों के माने तो बरामद की गई राशि के बाद पीयूष जैन ने अपना मुंह नहीं खोला है कि असल में पैसा किसका है. डीजीजीआई रिपोर्ट के मुताबिक पीयूष ने बयान दिया है कि वह सबकुछ भूल गया है. उसने कहा, 196 करोड़ रुपये मेरे हैं, आपने मुझे गिरफ्तार कर लिया है बात यहीं खत्म.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें