यूपी रोडवेज बस रेलिंग तोड़ के अटक नदी में गिरी, शीशे तोड़कर बाहर निकाले यात्री

Smart News Team, Last updated: Thu, 8th Jul 2021, 11:21 PM IST
कानपुर से बुलंदशहर जा रही रोडवेज बस से बड़ा हादसा होते होते बचा. धौरसलार गांव के पास जीटी रोड पर बस अनियंत्रित होकर अटक नदी पुल की रेलिंग तोड़ नदी में जा गिरी. स्थानीय लोगों ने मौके पर ही यात्रियों को बस के शीशे तोड़ बाहर निकाल लिया. बस में महिलाओं और बच्चों समेत करीब 30 यात्री सवार थे.
यूपी रोडवेज बस रेलिंग तोड़ के अटक नदी में गिरी, शीशे तोड़कर बाहर निकाले यात्री

कानपुर. गुरुवार शाम कानपुर से बुलंदशहर जा रही रोडवेज धौरसलार गांव के पास जीटी रोड पर बस अनियंत्रित हो गई और सीधे अटक नदी पुल की रेलिंग तोड़ नदी में जा गिरी. बस में महिलाओं और बच्चों समेत करीब 30 यात्री सवार थे. हादसे के बाद घटनास्थल पर हंगामा मच गया. आस पास के ग्रामीणों और राहगीरों ने शोर सुनकर तुरंत पुलिस को सूचना दी. जिसके बाद बस में फंसे यात्रियों को बाहर निकालने की कोशिश की गई. हादसे में यात्रियों को मामूली चोटें ही आई हैं जिसके बाद यात्री अन्य साधनों से अपने घरों को रवाना हो गए. 

बता दें कि बुलंदशहर डिपो की बस बच्चों समेत 30 यात्रियों के साथ कानपुर से रवाना हुई. जीटी रोड पर उत्तरीपुरा रेलवे क्रासिंग को पार करके जैसे ही अटक नदी पुल पर पहुंची तो बारिश के चलते सड़क पर फिसलन और तेज रफ्तार के चलते अनियंत्रित हो गई. बाईं ओर अटक नदी के पुल की रेलिंग तोड़ लटक गई. बस के नदी में गिरते ही यात्रियों ने चिल्लाना शुरू कर दिया जिसके बाद राहगीरों व ग्रामीण लोगों ने तुरंत फंसे यात्रियों को बस के शीशे तोड़ कर बाहर निकलना शुरू कर दिया. जिसके दौरान जीटी रोड पर जाम लग गया.

UP में ब्लॉक प्रमुख नामांकन में मारपीट, हिंसा पर ADG बोले- पहले से कम हुआ है

बिल्हौर इंस्पेक्टर अनूप कुमार निगम ने बताया कि हादसे में यात्रियों को मामूली चोटें ही आई हैं. सभी को दूसरे साधनों से रवाना कर दिया गया है. अगर बस पुल के बीच से नदी जाकर गिरती तो कई जानें जा सकती थीं. वहीं नदी में बारिश का पानी काफी कम था जिसकी वजह से फंसे यात्रियों को निकालने में ज्यादा परेशानी नहीं हुई. अगर नदी में ज्यादा पानी होता तो भी बड़ा हादसा हो सकता था।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें