हिमालय की बर्फीली हवाओं से 9.6 डिग्री सेल्सियस पहुंचा कानपुर में रात का तापमान

ABHINAV AZAD, Last updated: Wed, 24th Nov 2021, 2:00 PM IST
  • कानपुर में तेज रफ्तार बर्फीली हवाओं की वजह से मंगलवार रात का तापमान 9.6 डिग्री सेल्सियस रहा. इस तरह मंगलवार इस सीजन का ठंडा दिन रहा. पिछले चार दिन में रात के तापमान में 7.6 डिग्री सेल्सियस कमी आई है.
(प्रतीकात्मक फोटो)

कानपुर. मंगलवार रात तेज रफ्तार बर्फीली हवाओं ने कानपुर का पारा गिरा दिया है. दरअसल, कानपुर में मौजूदा तापमान 9.6 डिग्री सेल्सियस है. इस तरह यह सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा. चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय के मौसम विभाग के मुताबिक, अगर मौसम में बदलाव नहीं हुआ और तेज हवाओं का दौर जारी रहा तो जल्द ही कानपुर और आसपास के क्षेत्रों में शीतलहरी का सामना करना पड़ सकता है. इससे पहले शनिवार रात तापमान 17.2 डिग्री सेल्सियस था. जबकि बुधवार सुबह 9.6 डिग्री सेल्सियस हो गया.

मौसम विभाग के मुताबिक, पिछले चार दिन में रात के तापमान में 7.6 डिग्री सेल्सियस कमी आई है. आमतौर पर इस तरह का उतार चढ़ाव कम ही देखने में आता है. तापमान कम होने से ठंड बढ़ गई है. इस वजह से रात के तीसरे पहर में अधिक ठंड लगती है. दरअसल, मंगलवार को आसमान साफ था, दिन का पारा 28.2 डिग्री सेल्सियस रहा. दूसरे पहाड़ों से आने वाली सर्द हवाओं की गति औसतन 05.8 किमी प्रति घंटा थी. ऐसे में रात का पारा गिरने की पूरी संभावना थी.

कानपुर के IFS सौरभ को मिली विदेश मंत्रालय में बड़ी जिम्मेदारी, संभालेंगे पूर्वी देशों के मामले

सीएसए के मौसम विज्ञानी और जलवायु अनुसंधान प्रमुख डॉ. एसएन पांडेय के मुताबिक, तापमान दो कारणों से गिरता है. एक तो साफ आसमान, जिसकी वजह से सतह से गर्मी तेजी से वापस लौटती है, इसे रेडिएशनल कूलिंग कहते हैं. त्तर पश्चिम भारत में अब आसमान साफ है. सर्दी बढ़ने का दूसरा कारण है, हिमालय से होकर गुजरने वाली उत्तर-पश्चिमी ठंडी और शुष्क हवाएं. इन हवाओं के मैदानी इलाकों में पहुंचते ही ठंड बढ़ जाती है. यह हवाएं भी अब चलने लगी हैं. मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार राज्य में अगले पांच दिनों तक मौसम शुष्क रहेगा, जिसकी वजह से तापमान में कमी आएगी. एयर क्वालिटी भी सही रहेगी. साथ ही सर्द हवाएं बढ़ेंगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें