कानपुरः दुकान का ताला तोड़ 50 किलो की तिजोरी ले गए शातिर चोर, घटना CCTV में कैद

Sumit Rajak, Last updated: Sun, 6th Mar 2022, 11:02 AM IST
  • कानपुर में गोविंद नगर के मिठाई की एक दुकान में ताला तोड़कर चोर अन्दर की ओर घुसे. इसके बाद तिजोरी तोड़ने का कोशिश की, लेकिन काफी मशक्कत के बाद भी वह नहीं खुली तो वह 50 किलो की तिजोरी ही उठा ले गया. वहीं दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में उसकी कारनामा कैद हो गई.
फाइल फोटो

कानपुर. यूपी के कानपुर में गोविंद नगर के मिठाई की एक दुकान में ताला तोड़कर चोर अन्दर  की ओर घुसे. इसके बाद तिजोरी तोड़ने का कोशिश की, लेकिन काफी मशक्कत के बाद भी वह नहीं खुली तो वह 50 किलो की तिजोरी ही उठा ले गया. वहीं दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में उसकी कारनामा कैद हो गई. इसके बाद दुकानदार को घटना की जानकारी हुई तो तुरंत पुलिस को सूचना दी.

कानपुर के गोविंद नगर डी-ब्लॉक के रहने वाले मलिक मिश्रा की घर पर ही मलिक स्वीट हाउस के नाम से दुकान है. परिवार पहली मंजिल पर रहता है. बेटे विशाल ने कहा कि शुक्रवार रात दुकान बंद करने के बाद कारीगर और वह ऊपर चले गये थे. शनिवार सुबह दुकान खोलने के लिए उतरे तो शटर के ताले टूटे थे.  इसके बाद दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज चेक किए तो पता चला कि एक चोर रात 2:36 बजे अंदर आया. चोर तिजोरी का ताला खोलने का काफी कोशिश किया, लेकिन काम रहने पर परेशान होकर दुकान के आस पास में चक्कर लगाता रहा. इसके दस मिनट बाद तिजोरी लेकर ही बाहर निकल गया. गोविंदपुरी स्टेशन के पास होने के कारण लोगों की आवाजाही देखी तो तिजोरी दुकान के बाहर रख दी. इसके बाद में तड़के 3:56 बजे उठा ले गया.

रिपोर्ट में खुलासा: पेट्रोल-डीजल के दाम में जल्द हो सकती है 15 रुपये की बढ़ोतरी, जानें क्यों

मलिक मिश्रा के बड़े बेटे मनीष ने कहा कि तिजोरी उनके दादा स्व. श्रीराम मिश्रा ने बनवाई थी. उसका वजन करीब 50 किलो था. विशाल का कहना है कि तिजोरी में लगभग पांच लाख रुपये और कई जरूरी कागजात थे. 112 नंबर पर सूचना दी तो एसीपी गोविंद नगर विकास कुमार पांडेय थाने की फोर्स के साथ पहुंचे. फिर इसकी जांच शुरू की. साथ ही पीड़ित ने मुकदमा दर्ज करवाई. गोविंद नगर के एसीपी विकास पांडेय ने  बताया कि, 'मिठाई की दुकान में चोरी की मुकदमा दर्ज के आधार पर चोर की तलाश की जा रही है. जल्द ही उसे गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया जाएगा. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें