UP सरकार ने मांगे कानपुर हैलट कोविड अस्पताल के CCTV फुटेज, खोजने पर भी नहीं मिल रहे

Smart News Team, Last updated: Mon, 14th Jun 2021, 7:44 PM IST
  • उत्तर प्रदेश सरकार के निर्देश के बावजूद कानुपर हैलट कोविड अस्पताल में एक महीने की सीसीटीवी फुटेज नहीं रखी गई है. शासन ने जब मानिटरिंग के लिए फुटेज मांगी तो हैलट प्रशासन सीसीटीवी फुटेज को खोजने में लगा हुआ है.
सरकार के आदेश के बावजूद हैलट प्रशासन एक महीने के फुटेज नहीं दे पा रहा है.

कानपुर. योगी सरकार ने प्रदेश के कोविड अस्पतालों से सीसीटीवी फुटेज मांगे लेकिन पहले की तरह इस बार भी कानपुर के हैलट के कोविड अस्पताल की सीसीटीवी फुटेज नहीं मिल रही है. शासन ने कोरोना काल में सभी अस्पतालों को निर्देश दिए थे कि कम से कम से एक महीने की सीसीटीवी फुटेज रखें लेकिन हैलट प्रशासन सीसीटीवी फुटेज नहीं खोज पा रहा है.

इस बारे में हैलट एसआईसी डॉ. ज्योति सक्सेना ने कहा कि कुछ दिनों के फुटेज तो रखे गए हैं लेकिन कोविड अस्पताल के अप्रैल और मई के फुटेज मिलना मुश्किल है. एक पखवाड़े के सुरक्षित कराए गए हैं. आपको बता दें कि पिछले साल सीए की मौत की शिकायत सचिव से की गई थी. जिसके बाद जांच के दौरान सामने आया था कि उस दिन की सीसीटीव फुटेज ही नहीं है.

कानपुर में ब्लॉक प्रमुख दावेदार के खिलाफ शिकायत, कर्फ्यू में निकाला था काफिला

जिसके बाद यूपी सरकार ने कोरोना की दूसरी लहर के दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए साफ-साफ कहा गया था कि एक महीने के सीसीटीवी फुटेज रखे जाएंगे. सरकार को समय ने देने की शिकायत मिली थी, जिसके बाद सरकार ने सीसीटीवी फुटेज मांगे हैं. जिसके बाद हैलट अस्पताल को फिर से फुटेज नहीं मिल रहे हैं. इन सीसीटीवी फुटेज से सरकार मॉनीटरिंग करेगी.

कानपुर. योगी सरकार ने प्रदेश के कोविड अस्पतालों से सीसीटीवी फुटेज मांगे लेकिन पहले की तरह इस बार भी कानपुर के हैलट के कोविड अस्पताल की सीसीटीवी फुटेज नहीं मिल रही है. शासन ने कोरोना काल में सभी अस्पतालों को निर्देश दिए थे कि कम से कम से एक महीने की सीसीटीवी फुटेज रखें लेकिन हैलट प्रशासन सीसीटीवी फुटेज नहीं खोज पा रहा है.

इस बारे में हैलट एसआईसी डॉ. ज्योति सक्सेना ने कहा कि कुछ दिनों के फुटेज तो रखे गए हैं लेकिन कोविड अस्पताल के अप्रैल और मई के फुटेज मिलना मुश्किल है. एक पखवाड़े के सुरक्षित कराए गए हैं. आपको बता दें कि पिछले साल सीए की मौत की शिकायत सचिव से की गई थी. जिसके बाद जांच के दौरान सामने आया था कि उस दिन की सीसीटीव फुटेज ही नहीं है.

कानपुर में ब्लॉक प्रमुख दावेदार के खिलाफ शिकायत, कर्फ्यू में निकाला था काफिला

जिसके बाद यूपी सरकार ने कोरोना की दूसरी लहर के दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए साफ-साफ कहा गया था कि एक महीने के सीसीटीवी फुटेज रखे जाएंगे. सरकार को समय ने देने की शिकायत मिली थी, जिसके बाद सरकार ने सीसीटीवी फुटेज मांगे हैं. जिसके बाद हैलट अस्पताल को फिर से फुटेज नहीं मिल रहे हैं. इन सीसीटीवी फुटेज से सरकार मॉनीटरिंग करेगी.

|#+|

सीसीटीवी फुटेज से शासन जांच-पड़ताल करेगी कि किसने कोविड अस्पताल में जाकर ड्यूटी की और कौन हाजिरी भर कर लौट जाता था? डॉक्टरों के साथ-साथ पैरा मेडिकल स्टॉफ की भी मॉनिटरिंग की जाएगी लेकिन हैलट प्रशासन के पास सीसीटीवी फुटेज नहीं मिल रहे हैं.

सार्थक पहल! करिया झाला में थी पानी की समस्या, लोगों ने खुद ही खोदा तालाब

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें