प्रवासियों की समस्या का समाधान बताकर UPPCS 9th टॉपर बने कानपुर के अरुण दीक्षित

Smart News Team, Last updated: 11/09/2020 06:55 PM IST
  • कानपुर के अरुण कुमार दीक्षित ने पीसीएस परीक्षा 2018 में 9वीं रैंक हासिल की. साल 2017 में उन्हें  डिप्टी एसपी का पद मिला था इस साल डिप्टी कलेक्टर बने हैं.
यूपीपीसीएस परीक्षा 2018 में 9वीं रैंक हासिल करने वाले अरुण कुमार दीक्षित

कानपुर: आज जारी हुए यूपी पीसीएस परीक्षा परिणामों में 9वीं रैंक हासिल करने वाले डिप्टी कलक्टर बने  शहर के अरुण दीक्षित समाज की सेवा करने की इच्छा रखते हैं. लगातार दूसरी बार पीसीएस परीक्षा में क्वालीफाई कर अरुण ने अपना सपना पूरा कर लिया है. आपको बता दें कि पिछले साल पीसीएस परीक्षा पास करने पर अरुण को डिप्टी एसपी का पद मिला था. 

जानकारी के मुताबिक कानपुर के अशोक नगर में रहने वाले अरुण ने महाराणा प्रताप इंजीनियरिंग कॉलेज से बीटेक कर एमआईटीएस, ग्वालियर से कंप्यूटर साइंस में एमटेक की डिग्री ली. इसके बाद  डॉ. अंबेडकर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी फॉर हैंडीकैप्ड (एआईटीएच) में असिस्टेंट प्रोफेसर पद नियुक्त हो गए.जहां अरुण छात्रों को पढ़ा रहे थे. अरुण का कहना है कि सब ठीक चल रहा था मगर मन को शांति नहीं मिल रही थी. अधिकारियों को देखकर लगता था कि समाज के लिए कुछ करना है तो सिविल सर्विस में ही जाना होगी.

UP PCS 2018: अनुज नेहरा, संगीता राघव, ज्योति शर्मा टॉप 3, यूपी पीसीएस के 5 टॉपर

जिसके बाद  अरुण ने तैयारी शुरू की और उनकी मेहनत रंग लाई. अरुण डीप्टी कलेक्टर के पद पर ही रुकना नही चाहते हैं. उनका सपना है कि एक बार आईएएस के लिए भी परीक्षा दे. अरुण की मां सुनीता दीक्षित गृहिणी हैं. एक भाई विमल दीक्षित पीएसआईटी में शिक्षक है और छोटी बहन अंजू दीक्षित सीएसजेएमयू से एमएसडब्ल्यू की पढ़ाई पूरी कर रही है. अरुण ने बताया कि इंटरव्यू में 20 मिनट में करीब 25 से अधिक सवाल पूछे गए थे. जिसमें कोरोना काल में घर लौट रहे मजदूरों की समस्या कैसे खत्म करोगे समेत समाज से जुड़े अनेक सवाल शामिल थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें