कानपुर: युपिका का कर रहा अपना 80 करोड़ का भवन नीलाम, शासन को भेजा गया प्रस्ताव

Smart News Team, Last updated: Fri, 8th Jan 2021, 4:18 PM IST
  • कानपुर में यूपिका इंडस्ट्रियल कोआपरेटिव एसोसिएशन (यूपिका) अपने सर्वोदय नगर स्थित मुख्यालय भवन और भूमि को बेचने की तैयारी कर रहा है. इसके लिए पहले यह जमीन लेने का ऑफर सरकार को दिया जाएगा, उनके न लेने पर भूमि और भवन की नीलामी की जाएगी.
यूपिका अपने सर्वोदय नगर स्थित मुख्यालय भवन और भूमि को बेचने की तैयारी कर रहा है.

कानपुर:कानपुर में यूपी इंडस्ट्रियल कोआपरेटिव एसोसिएशन (यूपिका) अपने सर्वोदय नगर स्थित मुख्यालय भवन और भूमि को बेचने की तैयारी कर रहा है. इसके लिए पहले यह जमीन लेने का ऑफर सरकार को दिया जाएगा, उनके न लेने पर भूमि और भवन की नीलामी की जाएगी. ये प्रक्रिया पूरी करने को शासन को प्रस्ताव भेजा गया है. वहां से हरी झंडी मिलने पर कैबिनेट से मंजूरी मिलेगी. फिर बिक्री या नीलामी की प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जाएगा.

बता दें, संपत्ति बिक्री से हुई आय से बैंक और कर्मचारियों की बकाया राशि का भुगतान किया जाएगा. बता दें, यूपिका की जिम्मेदारी थी कि वह बुनकर सोसाइटियों से कंबल, चटाई, साड़ी, रजाई, शॉल व अन्य कपड़े खरीदकर अपने शोरूम में बेचे. बुनकरों के लिए संचालित सरकारी योजनाओं का सही तरीके से क्रियान्वयन कराते हुए लाभ दिलाए. स्थापना के समय इसमें 934 कर्मचारी थे जबकि 1977 में जनता धोती स्कीम की लांचिंग के समय 500 से ज्यादा कर्मचारी भर्ती किए गए.

UP की पंचायतों में चक्रानुक्रम आरक्षण पूरा, नए सिरे से सीटें हो सकती है आरक्षित

17 जगह प्रोडक्शन सेंटर बनाए गए थे, लेकिन जब 1994 में योजना बंद हुई, तो कर्मचारियों का वेतन निकालना मुश्किल हो गया. यूपिका घाटे में चली गई. अब तो कर्मचारियों को वेतन तक देने के लाले हैं. अब यहां मात्र 45 कर्मचारी बचे हैं. यूपिका का बैंकों पर भी 100 करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि बकाया है. ऐसे में यूपिका ने यह फैसला लिया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें