Video: कानपुर के नमकीन कारखाने में लगी भीषण आग, रेस्क्यू कर बचाई फंसे लोगों की जान

Sumit Rajak, Last updated: Fri, 4th Mar 2022, 9:22 AM IST
  • कानपुर में हरबंश मोहाल क्षेत्र के दानखोरी मोहल्ले में गुरुवार की शाम नमकीन के गोदाम में आग लग गई. देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया. आग ने पूरी बिल्डिंग को अपनी चपेट में ले लिया. नमकीन कारखाने में इस भीषण आग से भगदड़ मच गई. चार मंजिला बिल्डिंग से उठ रहे धुएं के गुबार ने इलाके में दहशत फैला दी.
फाइल फोटो

कानपुर. कानपुर में हरबंश मोहाल क्षेत्र के दानखोरी मोहल्ले में गुरुवार की शाम नमकीन के गोदाम में आग लग गई. देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया. आग ने पूरी बिल्डिंग को अपनी चपेट में ले लिया. नमकीन कारखाने में इस भीषण आग से भगदड़ मच गई. चार मंजिला बिल्डिंग से उठ रहे धुएं के गुबार ने इलाके में दहशत फैला दी. सूचना पर फायर सर्विस स्टेशनों से छह गाड़ियां पहुंची. फायर सर्विस के जवानों ने बिल्डिंग की दूसरी और तीसरी मंजिल में फंसी महिलाओं, बच्चों को सीढि़यों के सहारे नीचे उतारा. लगभग दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया. आग से लाखों रुपये की संपत्ति जल गई.

नाखोरी मोहल्ला के रहने वाले नमकीन कारोबारी राजेंद्र प्रसाद गुप्ता की नयागंज में फर्रुखाबाद नमकीन के नाम से दुकान है. इसके परिवार में दो भाई रामेंद्र और गुड्डू गुप्ता हैं. नमकीन का कारखाना चार मंजिला मकान के ग्राउंड फ्लोर में है. बा दें कि इसमें लगी डीजल चालित भठ्ठियों पर करीब एक दर्जन कारीगर नमकीन तैयार कर रहे थे. गुरुवार की शाम करीब चार बजे अचानक तेल से खौलती कड़ाही में आग लग गई. जिसके कुछ देर बाद ही देर में पूरा कारखाना में भयानक आग  लग गये. कारखाने से ऊंची-ऊंची लपटें उठने लगीं तो कारीगर जान बचाकर बाहर की ओर भाग निकले.

Ukraine Russia War: यूक्रेन पुलिस ने भारतीय छात्रों के मोबाइल तोड़े, ट्रेन का वसूल रहे सौ डॉलर, Video

चीफ फायर आफीसर के अनुसार कारखाने में 15 टिन रिफाइंड, दस टिन डालडा, पांच कुंतल बेसन, दो कुंतल मैदा रखा हुआ था. वहीं आग पकड़ते ही रिफाइंड और वनस्पति से भरे कनस्तर तेज आवाज के साथ फट गए. इसमें आग और भड़क उठ.  उन्होंने बताया कि काला गाढ़ा धुआं और लपटें दूसरी और तीसरी मंजिल पर पहुंच गई. धुआं आसपास के मकानों में जाने लगा. यह देखकर कारखाने की ऊपरी मंजिल पर फंसी मौजूद राजेंद्र गुप्ता की बहू अर्चना सौम्या और नाती ने शोर मचाना शुरू किया. मोहल्ले के लोगों ने पास में स्थित होटल पार्क व्यू होटल से सीढ़ी लेकर किसी तरह राजेंद्र की बहू अर्चना व सौम्या को बाहर निकाला. छोटे भाई गुड्डु की पत्नी अदिति और बेटी वंशिता और बेटा नीति, विराट आग के शुरुआती दौर में ही बाहर निकल आए थे.

लोगों ने होटल से पानी लेकर आग बुझाना शुरु किया करीब आधे घंटे बाद लाटूश रोड, मीरपुर और किदवई नगर आदि फायर स्टेशनों से पहुंची आधा दर्जन गाड़ियां पुहंची. सबसे पहले क्षेत्र की बिजली बंद कराई गई. करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया. सीएफओ महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि रिहायशी इलाके में कारखाना चलाया जा रहा था. अग्नि सुरक्षा मानकों का भी पालन नहीं किया जा रहा था और न ही आग से निपटने के संसाधन मिले हैं. नोटिस देकर कार्रवाई की जाएगी.

ग्राउंड फ्लोर पर आग लगने से सीढियों का रास्ता बंद हो गया था और इस बीच बिल्डिंग में फंसी राजेंद्र प्रसाद गुप्ता की बहू अर्चना, सौम्या छोटे भाई गुड्डू की पत्नी अदिति के साथ ही नमन सहित पांच लोगों को पुलिस और फायर ब्रिगेड ने करीब एक घंटे तक रेस्क्यू आपरेशन चलाकर सीढ़ी के सहारे सुरक्षित बाहर निकाला.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें