कानपुर: मेट्रो में पहले दिन 30 हजार यात्रियों का आंकड़ा पार, जानिए किसने लिया पहला टिकट

Sumit Rajak, Last updated: Thu, 30th Dec 2021, 10:52 AM IST
  • उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन ने बुधवार से मेट्रो का सफर आम यात्रियों के लिए समर्पित कर दिया. सुबह छह बजे से रात 10 बजे तक पहले दिन चार मेट्रो ट्रेनों ने 117 फेरे लगाए. इस दौरान मेट्रो में 30 हजार से ज्यादा यात्रियों ने सफर किया. लखनऊ निवासी सुशील सिंह ने गुरुदेव चौराहा स्टेशन पर 5.48 बजे पहला टिकट खरीदा के बाद कानपुर में मेट्रो टिकटों की बिक्री शुरू हो गई. मोतीझील स्टेशन से सबसे ज्यादा टिकट बेचे गए. आइआइटी दूसरे और रावतपुर तीसरे नंबर पर रहा.
फाइल फोटो

कानपुर. उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन ने बुधवार से मेट्रो का सफर आम यात्रियों के लिए समर्पित कर दिया. सुबह छह बजे से रात 10 बजे तक पहले दिन चार मेट्रो ट्रेनों ने 117 फेरे लगाए. इस दौरान मेट्रो में 30 हजार से अधिक यात्रियों ने सफर किया. लखनऊ निवासी सुशील सिंह ने गुरुदेव चौराहा स्टेशन पर 5.48 बजे पहला टिकट खरीदा के बाद कानपुर में मेट्रो टिकटों की बिक्री शुरू हो गई. मोतीझील स्टेशन पर सुबह छह बजे आईआईटी तक डा. राघवेंद्र पांडेय ने पहला टिकट खरीदा. वहीं मोतीझील में छोटी सी बच्ची आंद्री द्विवेदी पहली यात्री बनी. मकरावटगंज निवासी सुनीता वार्ष्णेय पहला टिकट खरीदकर कानपुर मेट्रो की पहली महिला यात्री बनीं.

ई-वॉलेट से पहला टिकट सुशील सिंह ने गुरुदेव स्टेशन से खरीदा. मोतीझील मेट्रो स्टेशन टिकट बिक्री के मामले में पहला स्थान रहा. यहां से सबसे ज्यादा यात्री सवार हुए.  वहीं दूसरे नंबर पर आईआईटी स्टेशन और तीसरे नंबर पर रावतपुर मेट्रो स्टेशन रहा. साथ ही पहले दिन टिकट बिक्री से आठ से साढ़े आठ लाख रुपये की आमदनी का अनुमान है. 

कानपुर में PM मोदी की रैली के दौरान दंगा भड़काने की कोशिश, बीजेपी का सपा पर आरोप

दोनों टर्मिनल के बीच हर 10 मिनट में चार मेट्रो ट्रेनें चल रही हैं. बताया जा रहा कि नए साल में दो मेट्रो ट्रेनें और  भी चलेगा. जिससे यात्रियों को हर पांच मिनट में मेट्रो चलेगी. सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक मेट्रो का संचालन होगा. बताया जा रहा कि नवंबर 2024 में दोनों कॉरिडोर बनने से 39 मेट्रो दोनों रूटों पर संचालित होने लगेंगी.

नवंबर 2024 में मेट्रो बनेगी लाइफलाइन

पहले आईआईटी से मोतीझील तक मेट्रो शुरू हुआ है. नवंबर 2024 तक मेट्रो शहर की लाइफ लाइन होगी. कॉरिडोर साढ़े 23 किलोमीटर आईआईटी से नौबस्ता के बीच तक है. दूसरा कॉरिडोर सीएसए से बर्रा-दो तक साढ़े आठ किमी का होगा. वही रावतपुर स्टेशन दोनों कॉरिडोर का मिलन केंद्र होगा. नवंबर 2019 में शुरू हुआ मेट्रो का काम नवंबर 2024 में पूरा हो जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें