विकास दुबे की 24 बीघा जमीन पर कब्जा नहीं कर पा रही यूपी पुलिस, ये है वजह

Smart News Team, Last updated: Thu, 24th Sep 2020, 6:52 PM IST
  • कानपुर के कुख्यात अपराधी विकास दूबे की सारी संपत्ति पर अब तक प्रशासन का कब्जा नही हो सका है. इसके साथ ही गुरुवार को आईबी की टीम जय बाजपेई के बारे में और अधिक जानकारी जुटाने के लिए कानपुर पहुंची. 
कानपुर का कुख्यात बदमाश विकास दूबे

कानपुर के चर्चित बिकरू मुठभेड़ कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे की एक जमीन पर प्रशासन अब तक कब्जा नही ले सकी है. ये बिल्हौर के सकरवा गांव की 24 बीघा जमीन है जिस पर पुलिस और प्रशासन की संयुक्त टीम कब्जा नहीं ले सकी.  इसके साथ ही आईबी की टीम विकास के खास गुर्गे जय बाजपेई के बारे में और अधिक जानकारी जुटाने के लिए गुरुवार को शहर में मौजूद थी.

जानकारी के मुताबिक मंगलवार को मिस कम्यूनिकेशन होने के कारण जमीन के कब्जे के लिए तहसीलदार थाने तक गए थे और उन्हें फोर्स उपलब्ध नहीं हो पाई थी. वहीं बुधवार को बैठक होने के कारण सभी प्रशासनिक अधिकारी शहर की तरफ आ गए, जिस कारण कोई कार्रवाई आगे नही बढ़ सकी. वहीं गुरुवार को भी कब्जा नहीं हा सका था. इस मामले में  तहसीलदार अवनीश कुमार ने बताया कि विकास दूबे की सकरवा गांव की 24 बीघा जमीन को कब्जा करने की कार्रवाई जल्द ही की जाएगी. उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारियों से फोर्स को लेकर बात हो चुकी है. तुंरत जमीन पर कब्जा लेने की प्रक्रिया अमल में लाई जाएगी.

कोरोना पॉजिटिव महिला की मौत पर अस्पताल में परिजनों का हंगामा, गहने चोरी का आरोप

वहीं  बिकरू कांड में भूमिका निभाने वाले विकास दुबे के करीबी जय बाजपेई के बारे में जानकारी के आईबी की टीम शहर ने जय को जानने वाले अन्य लोगों से मुलाकात कर पूरे परिवार के बारे में जानकारी इकट्ठा की. आपको बता दें कि मंगलवार को दिल्ली में आईबी के यहां एडवोकेट सौरभ भदौरिया ने शिकायत दर्ज कराई थी. यही नही 2018-19 में हुई जांच के कुछ दस्तावेज भी आईबी के अधिकारियों को सौंपे थे. इसके बाद वहां से निर्देश होने के बाद लखनऊ से आईबी की एक टीम शहर पहुंची और एडवोकेट के बयान दर्ज किए.टीम देर शाम वापस लखनऊ लौट गई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें