कोवैक्सीन लगवाने के लिए वॉलिंटियर्स में मची होड़, अभी तक 90 को लगी वैक्सीन

Smart News Team, Last updated: 06/12/2020 09:37 PM IST
आईसीएमआर द्वारा निर्मित को वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल में कानपुर के प्रखर हॉस्पिटल में सुबह से ही वॉलिंटियर्स की भीड़ लग गई. अभी तक 90 वालंटियरों पर ट्रायल वैक्सीनेशन का कार्य किया जा चुका है. 3 वॉलिंटियर्स के अलावा वैक्सीन लगने के बाद बाकी लोग सामान्य थे.
कानपुर के प्रखर हॉस्पिटल में रविवार को कोरोना वैक्सीन लगाने वाले वॉलिंटियर्स की भीड़ लग गई.

कानपुर. रविवार को सुबह से ही शहर के प्रखर हॉस्पिटल में कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए वॉलिंटियर्स की भीड़ लग गई. देर शाम तक 73 वॉलिंटियर्स को आईसीएमआर द्वारा निर्मित कोवैक्सीन लगाई जा चुकी है. तीन वॉलिंटियर्स को छोड़कर बाकी में कोई बदलाव नहीं देखे गए. तीन वॉलिंटियर्स को वैक्सीन लगने के बाद सुस्ती का एहसास हुआ.

आपको बता दें कि रविवार को एक दर्जन डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ को भी कोरोना वैक्सीन लगाई गई. आईसीएमआर द्वारा निर्मित को वैक्सीन के ट्रायल के लिए कानपुर में मुंबई और दिल्ली से टीमें आईं. शनिवार को 17 वॉलिंटियर्स को कोरोना वैक्सीन लगाई गई थी जबकि रविवार को देर शाम तक 73 वॉलिंटियर्स को वैक्सिंन लगाई गई. अभी तक 90 वॉलिंटियर्स को वैक्सीन लगाई जा चुकी है.

8 करोड़ रुपए के सिक्के हुए डंप, कई कारोबारियों की पूंजी फंसी

शहर के प्रखर हॉस्पिटल में सुबह से ही वॉलिंटियर्स की भीड़ लगी रही. उन्हें व्यक्ति लगवाने के लिए लाइन लगाकर भी इंतजार करना पड़ा. 500 वॉयलों को लगातार वॉलिंटियर्स को लगाया जाता रहेगा. इसके साथ ही आईसीएमआर ने इसकी मॉनिटरिंग भी शुरू कर दी है. अब से वैक्सीन सेंटर में आने वाले लोगों के लिए र्ट्रिररेशन जरूरी होगा अन्यथा उन्हें प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

होमगार्ड दिवस पर CM योगी ने किया ऐलान-दिवंगत के परिवार को सरकार देगी 5 लाख रुपए

ट्रायल टीम के चीफ गाइड डोजियर कुशवाहा ने बताया कि अभी तक 90 वॉलिंटियर्स पर ट्रायल वैक्सीनेशन का कार्य किया जा चुका है. दो सफल ट्रायल के बाद अभी है तीसरा ट्रायल है. इस ट्रायल में वॉलिंटियर्स को कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद उन्हें 28 वें दिन दूसरी डोज़ दी जाएगी. वैक्सीनेशन के बाद अधिकतर वॉलिंटियर्स में कोई लक्षण सामने नहीं आए हैं. तीसरे ट्रायल में 1000 वॉलिंटियर्स को वैक्सीन लगाने की तैयारी की गई है. इस चरण में डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के साथ लखनऊ, कानपुर के अलावा पड़ोसी जिलों के वॉलिंटियर्स को भी शामिल किया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें