कानपुर उर्सला अस्पताल में लापरवाही! बच्चे का लेफ्ट की जगह राइट कान का ऑपरेशन

Smart News Team, Last updated: Fri, 16th Oct 2020, 11:43 AM IST
  • कानपुर के उर्सला अस्पताल में लापरवाही का एक मामला समाने आया है. 6 साल के एक बच्चे के स्वस्थ्य कान का परदा ऑपरेशन कर निकाल दिया गया जबकि होना था बाएं कान का ऑपरेशन.
कानपुर के उर्सला अस्पताल में लापरवाही से 6 साल के एक बच्चे के गलत कान का ऑपरेशन हो गया.

कानपुर. कानपुर के उर्सला अस्पताल में लापरवाही की हद हो गई. डॉक्टर की लापरवाही का खामियाजा 6 साल के मासूम को उठाना पड़ा. डॉक्टर ने 6 साल के एक बच्चे के स्वस्थ्य कान का परदा ऑपरेशन कर निकाल दिया गया जबकि होना था बाएं कान का ऑपरेशन. ऑपरेशन रुम से बाहर निकलने के बाद बच्चे के परिजनों ने देखा तो वह चौंक गए. परिजनों ने थाने में तहरीर देने की कोशिश की, मगर थाने में शिकायत दर्ज नहीं हुआ. 

मोहम्मद सईद निवासी फहीमाबाद चमनगंज का 6 साल का बेटे रसद को बाएं कान में परेशानी थी, इस कान से खून आ रहा था और उसे सुनने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा था. मासूम की मां जेबा ने बताया कि करीब दो साल रसद छत से गिर गया था, तब से उसे यह परेशानी है. उन्होंने बताया कि बच्चे की इलाज के लिए प्राइवेट अस्पताल के डॉक्टर  दो लाख रुपये की मांग कर रहे थे. 

कानपुर नगर निगम ऑफिस पर सपाइयों का हल्ला बोल, हाउस टैक्स में लूट का आरोप

जानकारी के मुताबिक, मजबूरी में जेबा ने अपने बेटे रसद को सरकारी अस्पताल उर्सला में डॉ. आरके वर्मा को दिखाया. डॉ. वर्मा ने बच्चे को देखने के बाद भर्ती कर लिया था. ऑपरेशन के लिए कहा. इसके लिए उन्होंने जांच की रिपोर्ट भी ले ली. जेबा ने आरोप लगाया कि डॉ. वर्मा को पता था कि बाएं कान में तकलीफ है लेकिन उन्होंने ऑपरेशन दाहिने कान का करवा दिया. जेबा ने कहा कि शिकायत की बात कहने पर डॉ. वर्मा ने धमकाया. 

28 छुट्टा पशुओं को कंटेनर ट्रक में ले जा रहे थे आरोपी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

इस घटना पर डॉ. आरके वर्मा का कहना है कि बच्चे को दोनों कान में परेशानी थी. ऑपरेशन रुम में बच्चे ने दाहिने कान में परेशानी बताई थी, उस कान में संक्रमण के साथ और भी परेशानी थी. इसलिए उस कान का ऑपरेशन किया गया है. दूसरे कान का ऑपरेशन बाद में किया जाएगा. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें