Zika Virus in UP: कानपुर में जीका वायरस के 6 और नए मामले, चकेरी इलाके में 645 संदिग्ध

Somya Sri, Last updated: Mon, 1st Nov 2021, 2:13 PM IST
  • कानपुर में जीका वायरस के 6 और नए केस मिले हैं. जिसमें एक गर्भवती महिला और दो पुरुषों समेत चार महिलाओं में संक्रमण पाया गया है. चिकित्सा की टीम ने अबतक चकेरी इलाके में जीका वायरस से प्रभावित 645 संदिग्ध, बुखार से पीड़ित और गर्भवती महिलाओं के नमूने इकट्ठे किए हैं. यह नमूने लखनऊ में केजीएमयू लैब और पुणे में नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी में भेजे गए हैं.
कानपुर में जीका वायरस के 10 केस. (सांकेतिक फोटो)

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में जीका वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है. खबर है कि कानपुर में जीका वायरस के 6 और नए केस मिले हैं. जिसमें एक गर्भवती महिला और दो पुरुषों समेत चार महिलाओं में संक्रमण पाया गया है. जिससे कानपुर में जीका वायरस के कुल 10 एक्टिव मामले हो गए हैं. वहीं कानपुर के जिलाधिकारी और स्वास्थ्य और नागरिक विभागों की एक टीम उन क्षेत्रों का जायजा लेने के लिए मौके पर पहुंच गई है. जहां से जीका वायरस के केस सामने आये हैं. जानकारी के मुताबिक चिकित्सा की टीम ने अबतक चकेरी इलाके में जीका वायरस से प्रभावित 645 संदिग्ध, बुखार से पीड़ित और गर्भवती महिलाओं के नमूने इकट्ठे किए हैं. यह नमूने लखनऊ में केजीएमयू लैब और पुणे में नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी में भेजे गए हैं.

उत्तर प्रदेश के संचारी रोग विभाग के निदेशक जीएस बाजपेयी ने कहा कि कांशीराम अस्पताल में एक विशेष वार्ड बनाया गया है. जहां लखनऊ के जीका वायरस के मरीजों को भर्ती किया गया है. वार्ड में मरीजों को मच्छरदानी के अंदर रखा गया है. कानपुर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा, “सभी संक्रमित व्यक्ति वायु सेना स्टेशन क्षेत्र के बाहर के हैं. वे चकेरी के हरजिंदर नगर लाल बांग्ला, पूनम टॉकीज, लालकुर्ती कैंट, ओमपुरवा और काली बाड़ी इलाकों में रहने वाले नागरिक हैं. सभी प्रभावित इलाकों में चिकित्सा और नागरिक टीमों द्वारा एंटी-लार्वा स्प्रे किया जा रहा है.”

CM योगी की तालिबानियों को दो टूक, भारत की तरफ बढ़े तो एयर स्ट्राइक तैयार

उन्होंने कहा कि सभी 6 मरीजों को होम क्वारंटीन में रखा गया है और उनका इलाज शुरू हो गया है. सिंह ने कहा, “सभी मरीज बिना लक्षण वाले हैं. उनके परिवारों को भी जांच रिपोर्ट आने तक घर पर रहने की सलाह दी गई है. संक्रमित व्यक्तियों के घरों के आसपास करीब 400 घरों को कंटेनमेंट एरिया बनाया गया है. फॉगिंग और एंटी लार्वा का लगातार छिड़काव किया जा रहा है. एक बार जब उनका क्रॉस निगेटिव टेस्ट हो जाएगा तो परिवार के सदस्यों का आइसोलेशन खत्म हो जाएगा.”

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें