पहाड़ों की बर्फबारी से ठिठूरा कानपुर

Smart News Team, Last updated: 16/12/2020 02:33 PM IST
  • चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) के मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले दिनों में आसमान साफ रहने के साथ सर्द हवाएं चलेंगी. 
कानपुर में अचानक से बढ़ी ठण्ड

कानपुर: पहाड़ पर जबतक बर्फबारी नहीं हुई थी मैदानी क्षेत्र के लोग सुनहरे मौसम का मजा ले रहे थे. न ज्यादा ठंड न ही ज्यादा गर्मी. लेकिन अब मैदानी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के हाड़ कांपने लगे हैं क्योंकि पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी का सिलसिला शुरू हो चुका है. मैदानी क्षेत्रों में शीत लहर चलनी शुरू हो चुकी है.

चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) के मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले दिनों में आसमान साफ रहने के साथ सर्द हवाएं चलेंगी. बुधवार को दिन की शुरूआत कोहरे की चादर से हुई. सर्द हवाओं ने शहर वासियों के हाड़ कंपा दिए. जनजीवन भी प्रभावित होने लगा है.

ICSE बोर्ड ने परीक्षा पैटर्न में किया बदलाव, प्रोजेक्ट वर्क समेत ये सिस्टम लागू

सीएसए के मौसम वैज्ञानिक डॉ. एसएन पांडेय के मुताबिक पहाड़ों की होने वाली बर्फबारी का असर मैदानी क्षेत्रों में देखा जा सकता है. इस महीने पारा तेजी से गिरेगा जिसके कारण सुबह व रात के वक्त गलन बढ़ जाएगी. तापमान में गिरावट के कारण दिन और रात के बीच अंतर भी कम हो जाएगा. वर्तमान में जो स्थिति है उससे साफ है कि नए वर्ष की शुरूआत कड़ाके की ठंड के बीच ही होगा.

राहगिरों को राह चलना मुश्किल

राह चलते लोग जगह-जगह जल रहे अलाव को तापते हुए आगे बढ़ रहे हैं. इन दिनों चाय की मांग भी काफी बढ़ गई है. राहगिर जगह-जगह रूककर चाय की चुस्कियां भरते हुए आगे बढ़ रहे हैं. ठंड बढ़ने के साथ राहगीरों के लिए मुश्किलें बढ़ गई हैं. रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड में उन्हें रात के वक्ता चाय की चुस्कियों का सहारा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें