कानपुर देहात के एसडीएम के नाम की फर्जी फेसबुक आईडी बना कर रूपये ऐठने का प्रयास

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Aug 2021, 12:34 AM IST
  • कानपुर देहात के उपजिलाधिकारी राम शिरोमणि के नाम की फर्जी फेसबुक आईडी बना कर साइबर ठगों ने उनके दोस्तों और रिश्तेदारों से रूपये ऐठने का प्रयास किया . जानकारी होने पर उपजिलाधिकारी ने साइबर ठगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया है .
प्रतिकात्मक तस्वीर

उत्तर प्रदेश में साइबर ठगों की तादाद दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. जिसको लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस आए दिन लोगों को जागरूक करने का प्रयास करती रहती है. वही साइबर ठग भी अपने तरीकों को बदलते रहते हैं. ऐसा ही एक मामला कानपुर  में उस वक्त सामने आया जब साइबर ठगों ने कानपुर देहात के तहसील मैथा के उपजिलाधिकारी राम शिरोमणि की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर लोगों से पैसे माँगने शुरू कर दिए. इसकी जानकारी होते ही उपजिलाधिकारी ने तत्काल फर्जी आईडी की जानकारी पुलिस को दी. वहीं पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए साइबर ठग की तलाश शुरू कर दी है.

ठगों ने सबसे पहले तो एसडीएम साहब के नाम की फर्जी आईडी बनाई . उस पर उनकी फोटो भी लगाई  और फिर उनके संगठन के सभी रिश्तेदारों व मिलने वालों को सुबह से फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने लगा . कुछ देर बाद मैसेंजर पर साइबर ठग ने कई लोगों को मैसेज भेजना शुरू किया . इसमें साइबर ठग ने उनके नाम का इस्तेमाल करते हुए कहा कि एक दोस्त की तबीयत बेहद खराब है और उसके इलाज के लिए पैसों की जरूरत है. 

जिसके बाद साइबर ठग ने मैसेंजर पर किसी से 10000 तो किसी से 12000 की मांग की .जब लोगों को संदेह हुआ तो उन्होंने एसडीएम को फोन कर इसकी पुष्टि करनी शुरू की और तब जा के एसडीएम को इसकी जानकारी हुई . उन्होंने तत्काल प्रभाव से सभी को आश्वस्त किया कि उनका कोई दोस्त अस्पताल में भर्ती नहीं है . उन्होंने ये भी कहा कि किसी को पैसे न दें . इसके बाद उन्होंने तत्काल पूरे मामले की जानकारी पुलिस को देते हुए रिपोर्ट भी  दर्ज कराई  है .

थाना प्रभारी शिवली प्रमोद कुमार शुक्ला ने बताया कि उप जिलाधिकारी मैथा की तरफ से अज्ञात लोगों  के खिलाफ तहरीर दी गई  जिस पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है और पूरे मामले को छानबीन के लिए साइबर सेल को भेजा गया है .

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें