कानपुर में किसानों ने निकाली रैली, पराली न जलाने का दिया संदेश

Smart News Team, Last updated: 17/10/2020 06:17 PM IST
  • कानपुर के दोहरापुर गांव में कृषि विभाग के असिस्टेंट टेक्नोलॉजी मैनेजर ने कर्मचारियों और कुछ किसानों के साथ मिलकर बीते शुक्रवार एक रैली निकाली, जिसमें उन्होंने किसानों को पराली न जलाने का संदेश दिया. रैली के जरिए पराली जलाने से होने वाले नुकसान के भी संदेश दिये गए.
असिस्टेंट टेक्नोलॉजी मैनेजर ने कर्मचारियों और कुछ किसानों के साथ मिलकर रैली निकाली पराली न जलाने का दिया संदेश

कानपुर: पराली जलाने से प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है, साथ ही और भी कई नुकसान हो रहे हैं. ऐसे में कानपुर के दोहरापुर गांव में कृषि विभाग के असिस्टेंट टेक्नोलॉजी मैनेजर ने कर्मचारियों और कुछ किसानों के साथ मिलकर बीते शुक्रवार एक रैली निकाली, जिसमें उन्होंने किसानों को पराली न जलाने का संदेश दिया. इसके साथ ही असिस्टेंट टेक्नोलॉजी मैनेजर ने हाथों में तख्ती लेकर किसानों को पराली जलाने से होने वाले नुकसानों से भी अवगत कराया. रैली के जरिए कृषि विभाग के असिस्टेंट टेक्नोलॉजी मैनेजर ने गांव के किसानों को जागरुक करने का काम किया.

कानपुर के मलासा ब्लॉक के दोहरापुर में कृषि विभाग के कर्मचारियों ने जागरूकता रैली निकाली, जिसमें उन्होंने गांव के बाकी किसानों को पराली न जलाने का संदेश दिया और इससे होने वाले नुकसानों से भी अवगत कराया. इस बारे में बात करते हुए कृषि विभाग के असिस्टेंट टेक्नोलॉजी मैनेजर रामलखन व सुमित कुमार ने कहा कि किसानों को पराली नहीं जलानी चाहिए. यह काम उन्होंने कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए भी किया. इसके साथ ही सुमित कुमार ने कहा कि कृषि विभाग को तय तकनीक के साथ ही पराली का प्रबंधन करना चाहिए.

कानपुर: ट्रैक्टर से गिरा युवक, रोटावेटर से कट कर हुई मौत

सुमित कुमार ने पराली जलाने वालों के खिलाफ एनजीटी द्वारा कार्रवाई करने की भी बात कही. उन्होंने कहा कि जो भी किसान पराली में जलाएगा, उसके खिलाफ एनजीटी के निर्देशानुसार जुर्माना लगाया जाएगा. बता दें कि इस रैली में राजाराम, राकेश, रामऔतार, शिवदास, संतोष, रमेश, अर्जुन सिंह, चुन्नी देवी, अंशो देवी, जयदीप, पंकज, शिवबाबू, छोटेलाल, काशी प्रसाद, कुलदीप समेत तमाम किसान भी मौजूद रहे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें