कानपुर: करवाचौथ से पहले बाजार में दिखी रौनक, दिखे आकर्षक ऑफर

Smart News Team, Last updated: Tue, 3rd Nov 2020, 7:38 PM IST
  • करवाचौथ के एक दिन पहले ही कानपुर के बाजारों में भी काफी रौनक देखने को मिल रही है. ब्यूटी पार्लर से लेकर मिठाइयों की दुकानों पर भी खूब रौनक देखने को मिल रही है. करवाचौथ जैसे खास मौके पर बाजार में काफी लुभावने ऑफर्स भी देखने को मिल रहे हैं.
करवाचौथ के एक दिन पहले ही कानपुर के बाजारों में भी काफी रौनक देखने को मिल रही है

कानपुर: करवाचौथ का त्योहार उत्तर भारत में काफी धूमधाम से मनाया जाता है. यह दिन सुहागनों के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. करवाचौथ पर सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं. करवाचौथ के एक दिन पहले ही कानपुर के बाजारों में भी काफी रौनक देखने को मिल रही है. ब्यूटी पार्लर से लेकर मिठाइयों की दुकानों पर भी खूब रौनक देखने को मिल रही है. कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए पार्लर पर भी दो शिफ्ट लगा दी गई है, जिससे महिलाएं आसानी से फेशियल और ग्रूमिंग करा सकें. करवाचौथ जैसे खास मौके पर काफी लुभावने ऑफर्स भी देखने को मिल रहे हैं.

कानपुर के गुमटी, स्वरूप नगर और सिविल लाइंस स्थित वीएलसीसी और सभी प्रकार के सलून ग्राहकों से भरे हुए हैं. कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए और ग्राहकों की सुरक्षा के मद्देनजर पार्लर में ब्यूटीशियन फेस शील्ड लगाकर फेशियल कर रहे हैं. वहीं, भीड़ इस कदर बढ़ गई है कि कई ब्यूटी पार्लर में तो एडवांस बुकिंग भी शुरू की जा चुकी है. इससे इतर कई पार्लर पर फेशियल और मेकअप का रेट भी आधा कर दिया गया है, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इसका फायदा उठा सकें.

बाजार में आई रौनक,ज्वैलर्स की शॉप पर ऐसे बढ़ गयी डिमांड

कानपुर के बाजारों में मेहंदी लगाने वालों के लिए भी यह त्योहार काफी शुभ है. पार्लर में मेहंदी लगवाने वालों की भी भीड़ जमा हो गई है. कानपुर के नवीन मार्केट स्थित मेहंदी लगाने वाले दुकानदार महिलाओं को केटलॉग से डिजाइन दिखाकर मेहंदी लगा रहे हैं. करवा चौथ को कम समय बचे होने के कारण मेहंदी लगाने वालों के यहां महिलाओं की भीड़ भी काफी हो गई है. कई डिजाइनर्स ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि इस बार सावन और ईद के समय लॉकडाउन होने के कारण कमाई नहीं हो पाई थी, लेकिन करवा चौथ पर दुकानदारी काफी अच्छी हो रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें