कानपुर पुलिस की कहानी विकास दुबे का मकान नहीं गिराया, क्षतिग्रस्त होकर गिरा मकान

Smart News Team, Last updated: Fri, 25th Sep 2020, 12:23 PM IST
  • कानपुर. पुलिस द्वारा जेसीबी से विकास दुबे के घर गिराए जाने का वीडियो जमकर हुआ था वायरल पुलिस की लिखा पढ़ी में मकान जर्जर होने के चलते गिरने की लिखी गई कहानी पुलिस की लिखा पढ़ी में जर्जर मकान के मलबे को जेसीबी से हटाए जाने का किया गया है जिक्र.
विकास दुबे (बिकरु कांड) 

कानपुर। कानपुर पुलिस ने बिकरु में हुए आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद जमकर तांडव मचाया था. इस दौरान पुलिस द्वारा विकास दुबे के घर को ढहाये जाने का वीडियो भी जमकर वायरल हुआ था.

पुलिस ने हत्याकांड के दूसरे दिन ही विकास दुबे के किलानुमा घर को जेसीबी द्वारा गिरवा दिया था. पुलिस की मौजूदगी में ही विकास दुबे का घर ढहा दिया गया था. जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब जमकर वायरल हो रहा था लेकिन पुलिस ने अपनी जान बचाने के लिए एक अलग ही कहानी गढ़ डाली है.

पुलिस द्वारा कोर्ट को पेश किए गए लिखा पढ़ी के कागजात में विकास दुबे के घर को पुलिस द्वारा नहीं गिराए जाने का जिक्र किया गया है. पुलिस का कहना है कि विकास दुबे का मकान क्षतिग्रस्त हो गया था. जर्जर दीवारें मकान का भार नहीं सह पाई जिसके चलते वह भरभरा कर गिर गई. सूचना पर पहुंची पुलिस हथियारों की तलाश में विकास दुबे के घर गई थी. जहां जेसीबी से पुलिस द्वारा सिर्फ मलबा हटाया गया था.

कानपुर: महावीर अस्पताल का आईसीयू सील, फर्जी डाॅक्टर कर रहे थे इलाज

पुलिस की लिखा पढ़ी में यही कहानी गढ़ी गई है जबकि कहानी के विपरीत सोशल मीडिया से लेकर यूट्यूब चैनल तक सभी जगह पुलिस की मौजूदगी में विकास दुबे के किलानुमा मकान को जेसीबी द्वारा गिराया जा रहा है.

खूब वायरल हुए थे विकास का घर गिराती जेसीबी के वीडियो

दो जुलाई की रात सीओ देवेंद्र मिश्र समेत आठ पुलिस कर्मियों की हत्या के बाद चार जुलाई को वायरल दर्जनों वीडियो में जेसीबी से घर गिराते दिखाया गया था. मीडिया रिपोर्ट में भी विकास के घर पर खड़ी कारों, बाइक व ट्रैक्टर को जेसीबी से तोडऩे का दावा किया गया था. इससे उलट पुलिस का कहना है कि जेसीबी का प्रयोग हथियारों को ढूंढने और मलबा हटाने के लिए हुआ.

पुलिस ने कहा

पुलिस ने विकास का मकान नहीं ढहाया. पहले तो विकास के लोगों ने ही दीवारों खोद दी थीं, जिससे मकान क्षतिग्रस्त हो गया. बाद में पुलिस ने हथियारों की तलाश की तो मकान स्वत: ढह गया. पुलिस ने इसका मुकदमा भी दर्ज किया था.

बृजेश कुमार श्रीवास्तव, एसपी ग्रामीण

हथियार छिपे होने की सूचना पर ही तलाशी कराई गई थी. उसमें कुछ हथियार और बारूद भी मिले थे.

मोहित अग्रवाल, आइजी

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें