कानपुर : जब धान की बोरियों में लगाई आग, तब जाकर हुआ एक निलंबित

Smart News Team, Last updated: Sat, 9th Jan 2021, 3:02 PM IST
  • शासन और प्रधानमंत्री कार्यालय से इस मामले में डीएम से जब रिपोर्ट मांगी गई तो डीएम ने केंद्र प्रभारी और जिला खाद्य विपणन अधिकारी पर विभागीय कार्रवाई की संस्तुति की। बता दें कि उत्तरप्रदेश के हर जिले में धान बेचने को लेकर किसान परेशान हैं।
चौबेपुर केंद्र पर जलाया गया धान

कानपुर : सरकार भले ही धान खरीद को ठीक बता रही हो, लेकिन हकीकत बेहद उलट है। भीषण जाड़े में किसान अपना धान बेचने के लिए कई-कई दिनों से धान खरीद केंद्र के बाहर धान लदी ट्रॉलियों में सोने को मजबूर है। इसी उम्मीद के साथ की कल उनका धान खरीदा जाएगा। लेकिन कहीं घुन तो कहीं गीला धान बताकर किसानों को लौटाया जा रहा है। इसी समस्या से आजीज होकर चौबेपुर में एक किसान ने खरीद केंद्र के बाहर अपने धान को आग लगा दी थी। तब जाकर डीएम ने क्षेत्रीय खाद्य विपणन अधिकारी एवं केंद्र प्रभारी अर्जुन पाठक को निलंबित और जिला खाद्य विपणन अधिकारी के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई करने की संस्तुति की है।

विपणन विभाग का चौबेपुर में धान खरीद केंद्र है। इस केंद्र पर खरगपुर निवासी किसान नागेंद्र सिंह को 50 कुंतल धान बेचना था। 28 दिसंबर को नागेंद्र धान लेकर पहुंचा था, लेकिन केंद्र प्रभारी एवं क्षेत्रीय खाद्य विपणन अधिकारी ने एक हफ्ते बाद आने के लिए था। एक हफ्ते बाद भी जब धान नहीं खरीदा गया तो किसान ने धान की बोरियों में आग लगा दी। हालांकि लोगों ने आग पर काबू पा लिया। इससे धान जलने से बच गया।

कानपुर के डॉग्स फूड अमेरिका यूरोप में निर्यात, तो कई देशों में बना फास्ट फूड

यह मामला संज्ञान में आने के बाद शासन से भी जिलाधिकारी आलोक तिवारी से जानकारी मांगी गई। बताते हैं कि प्रधानमंत्री कार्यालय से भी डीएम को फोन कर मामले की जानकारी ली गई और उचित कार्रवाई के लिए कहा गया। उधर, जिला खाद्य विपणन अधिकारी संतोष यादव ने क्रय केंद्र पहुंचकर किसानों के बयान दर्ज किए। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि धान नरेंद्र का नहीं था और नरेंद्र ने आग नहीं लगाई है। वहां काम करने वाले ठेकेदार के पूर्व पल्लेदार द्वारा आग लगाई गई। चौबेपुर पुलिस ने धान की बोरियों में आग लगाने वाले व्यक्ति को शांतिभंग की धारा में पाबंद किया है। उधर डीएम आलोक तिवारी ने क्षेत्रीय खाद्य विपणन अधिकारी के निलंबन और जिला खाद्य विपणन अधिकारी के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई की संस्तुति खाद्य आयुक्त को की है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें