कानपुर बनेगा ग्रीन और क्लीन, वाटर एंबुलेंस से सुधरेगी बीमार पौधों की सेहत

Smart News Team, Last updated: 24/10/2020 04:07 PM IST
  • महानगर में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण की गति पर विराम लगाने के साथी ग्रीन कानपुर, क्लीन कानपुर की मुहिम को और मजबूत करने के उद्देश्य चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कानपुर ने वाटर एंबुलेंस को बीमार पौधों की सेहत सुधारने के लिए जमीनी धरातल पर उतारा है.
ग्रीन कानपुर, क्लीन कानपुर की मुहिम

कानपुर. चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की कुलपति डॉक्टर आर. सिंह की ओर से वाटर एंबुलेंस को हरी झंडी दिखाकर महानगर की सड़कों पर उतार दिया गया है. वाटर एंबुलेंस की उपयोगिता के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कुलपति श्री सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय से संबंध फार्म हाउस के अलावा वाटर एंबुलेंस महानगर के सभी बीमार पेड़ पौधों का इलाज करके सेहतमंद बनाने का प्रयास करेगी.

उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की एंबुलेंस की तरह विश्वविद्यालय की यह वाटर एंबुलेंस त्वरित आकस्मिक सेवा के तहत कार्य करेगी. बताया कि वाटर एंबुलेंस में कृषि विशेषज्ञ हमेशा मौजूद रहेंगे जो अपनी देखरेख में बीमार पौधों को समय से पानी व आवश्यक औषधि के माध्यम से इलाज करेंगे. उन्होंने वाटर एंबुलेंस की महत्ता के बारे में बताया कि देशभर की यह पहली अनोखी पहल है. निश्चित तौर पर इसके परिणाम भी सुखद होंगे.

सबसे प्रदुषित शहरों की लिस्ट में 7वें स्थान पर कानपुर, लोगों की बढ़ी मुसीबत

कुलपति श्री सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय की ओर से गंगा किनारे औषधि युक्त पौधे भी लगवाए जा रहे हैं. इन पौधों को ही वाटर एंबुलेंस की देखरेख में सौंपा जाएगा. बताया कि वाटर एंबुलेंस महानगर में दिनों दिन बढ़ते जा रहे प्रदूषण पर लगाम लगाने के साथ ही पर्यावरण को भी संरक्षित करने में सहायक होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें