Kharmas 2021: 15 दिसंबर से शुरू हो रहा खरमास, इन 5 कामों में नहीं होगी मनाही

Pallawi Kumari, Last updated: Tue, 14th Dec 2021, 4:59 PM IST
  • 15 दिसंबर सो खरमास शुरू हो रहा है, जो अगले साल 14 जनवरी मकर संक्रांति के बाद खत्म होगा. खरमास में मांगलिक कार्य जैसे शादी-विवाह, सगाई, गृह प्रवेश आदि पर विराम लग जाता है. दरअसल इस दौरान शुभ व मांगलिक कार्य करना अशुभ माना जाता है. लेकिन कुछ ऐसे काम है जिन्हें आप खरमास के दौरान भी बेझिझक कर सकते हैं.
खरमास में किए जा सकते हैं ये कार्य

हर साल मार्गशीर्ष और पौष माह के बीच में खरमास लगता है. इस बार 15 दिसंबर से खरमास शुरू रहा है, जो 14 जनवरी 2022 मकर संक्रांति के बाद समाप्त होगा. सूर्य के धनु राशि में प्रवेश होने पर खरमास शुरू हो जाता है. खरमास को मलामास भी कहा जाता है. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक खरमास में शुभ व मांगलिक कार्य पूरी तरह से वर्जित माने जाते हैं. खरमास में पूरे एक महीने शादी-विवाह, मुंडन और गृह प्रवेश जैसे शुभ व मांगलिक कार्य करने पर विराम लग जाता है. लेकिन ऐसे पांच जरूर काम होते हैं, जिन्हें खरमास के दौरान करने पर कोई पाबंदी नहीं होती. 

खरमास में बेझिझक कर सकते हैं ये काम:

1.प्रेम विवाह या कोर्ट मैरिज कर रहे हैं तो खरमास में किए जाने पर भी कोई मनाही नहीं होगी. लेकिन अगर आप पूरे रीति-रिवाज के साथ विवाह करते हैं तो इसके लिए आपको शुभ मुहूर्त का इंतजार करना पड़ेगा.

Kharmas 2021: मंगलवार से खरमास, बंद रहेंगे शादी-विवाह, भूलकर भी ना करें ये काम

2.नियमित रूप से किये जाने वाले पूजा पाठ, साप्ताहिक व्रत शुभ काम जैसे कोई धार्मिक अनुष्ठान, व्रत या घर पर सत्यनारायण की कथा, शिव चर्चा आदि पर कोई रोक नहीं होती.

3. आपकी कुंडली में अगर बृहस्पति धनु राशि में हो तो ऐसी स्थिति में आप खरमास में भी सभी शुभ काम कर सकते हैं.

4. सीमांत, अन्नप्राशन (बच्चे की मुंहजुठी या  छठी) व जातकर्म अगर पहले से ही इस अवधि में तय हो चुके हैं तो इसे भी खरमास के दौरान किया जा सकता है.

5. अगर घर में किसी की मृत्यु हो जाये तो श्राद्ध करने वालों पर खरमास की कोई बाध्यता नहीं होती है.

क्या है खरमास, क्यों एक महीने तक रुक जाते हैं शुभ काम, सभी सवालों के जवाब इस पौराणिक कथा में

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें