कानपुर: गंगा बैराज से डाली गई मेन राइजिंग लाइन फिर खराब,2 लाख की आबादी को जलसंकट

Smart News Team, Last updated: 01/11/2020 08:07 PM IST
  • आए दिन लीकेज के कारण वाटर सप्लाई बंद कर लाखों की आबादी के लोग जहां पानी से वंचित किए जा रहे हैं, वहीं लीकेज के कारण सड़क पर लाखों लीटर पानी के बेकार बहने से पानी की बर्बादी हो रही है.
पालड़ा फाल से गंगाजल की आपूर्ति घटने के कारण आगरा के लोगों को पानी से जुड़ी परेशानी उठानी पड़ सकती है

कानपुर. गंगा बैराज से डाली गई राइजिंग लाइन एक बार फिर खराब होने से शहर की दो लाख की आबादी को जलसंकट से गुजरना पड़ रहा है. इस लाइन के अब सोमवार को ही ठीक होने की उम्मीद है. गंगा बैराज से बर्रा-8 तक डाली गई मेन राइजिंग लाइन शहर के लोगों के लिए परेशानी बन गई है. एक तरफ इस लाइन के डाले जाने से यहां सड़क खराब हो रही है, वहीं लोगों को पानी से भी वंचित रहना पड़ रहा है. रविवार को देवकी चौराहा पर पाइपलाइन में लीकेज हो गया. जिससे लाखों लीटर पानी सड़क पर बेकार बह गया. गौर हो कि शनिवार को भी लाल इमली और नवीन मार्केटमें पाइपलाइन में लीकेज की समस्या आ गई थी. जिस कारण कंपनीबाग से फूलबाग तक के इलाके की वाटर सप्लाई बंद रही.

उल्लेखनीय है कि पहले ही नहर की सफाई का काम चल रहा है और गुजैनी वॉटर व‌र्क्स और लोअर गंगा कैनाल से वॉटर सप्लाई बंद है. साउथ में वाटर सप्लाई के लिए गंगा बैराज से रोज डेढ़ करोड़ लीटर वाटर सप्लाई होता है. आए दिन वाटर सप्लाई खराब होने के कारण यहां एक तरफ पानी की बर्बादी हो रही है वहीं लोगों के घरों की जल सप्लाई बंद होने से उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

झगड़े के बाद पत्नी ने खुद को लगाई आग, बचाने की कोशिश में झुलसा पति, दोनों की मौत

इस बारे में जल निगम, परियोजना प्रबंधक शमीम अख्तर से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वाटर सप्लाई बंद करके खुदाई का काम किया जा रहा है. पाइपलाइन में लीकेज की समस्या के हल के लिए काम शुरू कर दिया गया है. मंडे शाम तक वाटर सप्लाई नॉर्मल हो जाएगी.इस बारे में परियोजना प्रबंधक का कहना है कि लीकेज को दिखवाया जा रहा है। जरूरत पड़ी तो गंगा बैराज लाइन को बंद कराया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें