कानपुर में कोरोना से मौत पर रोकथाम के लिए सर्किट हाउस में अधिकारियों की बैठक

Smart News Team, Last updated: 13/08/2020 05:29 PM IST
  • गंभीर रोगों से ग्रसित मरीजों को तत्काल बेहतर चिकित्सा सुविधा दिए जाने का निर्देश, होम आइसोलेशन के मरीज अपनी पल-पल की रिपोर्ट कंट्रोल रूम को दें.
कोरोना वायरस

कानपुर में लगातार बढ़ रहे मौत के आंकड़े को रोकने के लिए संयुक्त सचिव मृत्युंजय कुमार नारायण ने शहर के सभी अधिकारियों के साथ सर्किट हाउस में बैठक की.

बैठक को संबोधित करते हुए संयुक्त सचिव ने कहा कि कोरोना से होने वाली मौतों को रोकना है. इसके लिए जरूरी है कि संक्रमण की पुष्टि होते ही गंभीर बीमारियों से ग्रस्त मरीजों को तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया जाए.

उन्होंने सख्त लहजे में अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा कि इलाज में किसी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए. होम आइसोलेशन वाले रोगियों की निगरानी की जाए ताकि वे नियमों का पालन कर सकें और उनसे किसी और को संक्रमण फैलने की आशंका न रहे.

कोरोना से होने वाली मौतों पर चिंता जताते हुए सीएमओ से कहा कि हर हाल में मृत्यु दर को रोकें. पॉजिटिव आने वाले मरीजों की स्थिति का आकलन करें और यदि उनको कोई दिक्कत होती है तो तत्काल हॉस्पिटल में भर्ती करवाएं. यदि उनकी हालत स्थिर है तो होम आइसोलेशन में रखा जाए.

साथ ही होम आइसोलेशन में रखते समय इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि उनके घर में दो शौचालय, अलग रूम, पल्स ऑक्सीमीटर व थर्मामीटर जरूर हो. मरीज दो-दो घंटे पर अपना तापमान, पल्स ऑक्सीमीटर से अपनी पल्स रिपोर्ट लेता रहे और इसकी सूचना कंट्रोल रूम को भी दे. यदि पल्स ऑक्सीमीटर में ऑक्सीजन कम आता है या उन्हें कोई समस्या होती है तो वे कंट्रोल रूम को सूचना दें ताकि अस्पताल में भर्ती कराया जा सके.

बैठक में नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के अपर आयुक्त एसके जैन, डीएम डॉ. ब्रह्मदेव राम तिवारी ,नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी, सीडीओ डॉ. महेंद्र कुमार, सीएमओ डॉ. अनिल मिश्रा व मेडिकल कालेज के प्राचार्य डॉ. आरबी कमल आदि उपस्थित रहे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें