BSNL के जीएम को निलंबित करने को लेकर ऑफिसर्स एसोसिएशन में नाराजगी

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Aug 2021, 3:00 PM IST
  • कानपुर के आफिसर्स एसोसिएशन में जीएम के निबंलन को लेकर काफी नाराजगी है. दरअसल, जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में उपस्थित ना होने पर जिलाधिकारी ने जीएम को निलंबित करने को लेकर सीएमडी को पत्र लिखा था.
कानपुर के आफिसर्स एसोसिएशन में जीएम के निबंलन को लेकर काफी नाराजगी है

कानपुर. कानपुर के आफिसर्स एसोसिएशन में जीएम के निबंलन को लेकर काफी नाराजगी है. दरअसल, जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में उपस्थित ना होने पर जिलाधिकारी ने जीएम को निलंबित करने को लेकर सीएमडी को पत्र लिखा था. वहीं, बीएसएनएल के पदाधिकारियों ने अपनी बात को डीएम व सीएमडी तक पहुंचाने की बात कही है.

बता दें, निगरानी समिति की बैठक में सरकार द्वारा संचालित महत्वकांक्षी योजनाओं के बारे में चर्चा की जा जाती है, जिसकी अध्यक्षता सांसद अशोक रावत करते हैं. 21 नवंबर को बैठक में जीएम बीएसएनएल मनीष कुमार शामिल नहीं हुए थे और ना ही कोई प्रतिनिधि मौजूद रहा. इसपर डीएम आलोक तिवारी ने देर शाम निलंबन के लिए सीएमडी को पत्र लिख दिया. अब ऑफिसर्स एसोसिशन जीएम के समर्थन में उतर आया है.

आफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार द्विवेदी ने बताया कि डीएम ने बिना जीएम का पक्ष जाने निलंबन की संस्तुति कर दी है. यह गलत है, एसोसिएशन इसका विरोध करता है. इसको लेकर जीएम मनीष कुमार ने बताया कि 21 नवंबर को निगरानी समिति की बैठक में ग्रामीण क्षेत्रों में फाइबर लाइनों का काम देख रहे सहायक महाप्रबंधक योजना अखिलेश गौतम, मंडल अभियंता रविंद्र प्रताप गए थे। उनकी वहां पर उपस्थिति पर दर्ज होगी।

आफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार द्विवेदी ने बताया कि डीएम ने बिना जीएम का पक्ष जाने निलंबन की संस्तुति कर दी है। यह गलत है, एसोसिएशन इसका विरोध करता है। जीएम मनीष कुमार ने बताया कि 21 नवंबर को निगरानी समिति की बैठक में ग्रामीण क्षेत्रों में फाइबर लाइनों का काम देख रहे सहायक महाप्रबंधक योजना अखिलेश गौतम, मंडल अभियंता रविंद्र प्रताप गए थे. उनकी वहां पर उपस्थिति पर दर्ज होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें