कोरोना काल में CSJMU का फैसला, इंटर करे पांच साल हो गए तो भी मिलेगा दाखिला

Smart News Team, Last updated: 01/10/2020 11:00 PM IST
  • कोरोना संक्रमण के चलते कम प्रवेश के कारण छत्रशाहूजी महाराज यूनिवर्सिटी ने स्नातक में प्रवेश के नियमों में बड़ा बदलाव किया है. अब 12 वीं के बाद पांच साल से अधिक के गैप के बाद भी छात्र स्नातक में प्रवेश ले सकेंगे.
छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय, कानपुर

कानपुर: सीएसजेएमयू में प्रवेश लेने की चाहत रखने वालों के लिए अच्छी खबर है. अब सीएसजेएमयू ने इंटर पास करने के बाद पांच वर्षों के अंदर स्नातक में प्रवेश लेने के नियम को खत्म कर दिया है.अब इंटर के पांच साल बीत जाने के बाद भी प्रवेश हो सकेगा. ऐसे लोगों को प्रवेश की अनुमति देने के कारण डब्ल्यूआरएन जनरेट करने की समय सीमा बढ़ाकर 15 अक्तूबर कर दी गई है.

जानकारी के मुताबिक गुरुवार को छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. नीलिमा गुप्ता की अध्यक्षता में प्रवेश समिति की बैठक आयोजित हुई. इस बैठक में पांच वर्ष से अधिक अन्तराल वाले लोगों के स्नातक में प्रवेश के सम्बंध में आवेदनों पर विचार किया गया. इसमें छूट की अनुमति देने के बाद प्रवेश के लिए जरूरी डब्ल्यूआरएन जनरेट करने की तिथि भी ऐसे छात्रों के लिए बढ़ा दी गई. ऐसा माना जा रहा है कि संबद्ध विद्यालयों की संख्या कम होने और कोरोना संक्रमण के चलते प्रवेश लेने वालों की रुचि में आई कमी को देखते हुए यह फैसला लिया गया है.

CSJMU कुलपति का टारगेट-'विद्यादान माह' में इस हफ्ते 400 लेक्चर अपलोड करें शिक्षक

आपको बता दें कि सीएसजेएमयू परास्नातक में समय अन्तराल की सीमा को पहले ही समाप्त किया जा चुका है. इसमें प्रवेश के लिए साल के अंतराल की कोई बाध्यता नहीं है. वहीं स्नातक व परास्नातक पूर्ण करने के लिए जो समय सीमा पूर्व से निर्धारित है वह लागू रहेगी. इसमें किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया है. इस बैठक में कुलसचिव, प्रोफेसर संजय स्वर्णकार, प्रोफेसर संजय कटियार, प्रोफेसर अंशु यादव, डॉ. आरएन कटियार, डॉ. सरोज द्विवेदी, डॉ. दीपक वर्मा और डॉ. संदेश गुप्ता आदि शामिल हुए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें